यूपी सरकार ने 210 माफियाओं पर कसा शिकंजा


(बृजवासी शुक्ल) 


लखनऊ । सरकार के सख्त निर्देश पर हो रही कार्रवाई में माफियाओं को अब तक अरबों की आर्थिक चोट पहुंचाई जा चुकी है। माफिया और गैंगेस्टर में पूर्व सांसद और पूर्व विधायक सहित कई और जन प्रतिनिधि भी शामिल हैं। किसी का अवैध मकान, मॉल और गेस्ट हाउस गिराया गया तो किसी से कब्जा की गई करोड़ों की जमीन को मुक्त किया गया। माफियाओं की कमर तोड़ने के लिए कार्रवाई का यह सिलसिला अभी जारी है।  



जिला और पुलिस प्रशासन की टीम स्थानीय प्राधिकरणों की मदद से माफियाओं, उनके रिश्तेदारों तथा गुर्गों के नाम की गई बेनामी संपत्तियों का ब्योरा जुटा रही है। प्रदेशव्यापी इस कार्रवाई की जद में अब तक 210 माफिया और गैंगेस्टर आ चुके हैं। इन्हें 766 करोड़ यानी साढ़े सात अरब से अधिक की आर्थिक चोट पहुंचाई जा चुकी है। माफिया और गैंगेस्टर के खिलाफ कार्रवाई में प्रयागराज ने अहम भूमिका निभाई है। पुलिस, प्रशासन और विकास प्राधिकरण ने अब तक पूर्व सांसद अतीक अहमद, उसके भाई पूर्व विधायक खालिद अजीम उर्फ अशरफ समेत कुल 23 लोगों के खिलाफ सरकारी जमीन को कब्जे से मुक्त कराने से लेकर ध्वस्तीकरण की कार्रवाई की है। अधिकारियों की मानें तो इस कार्रवाई में इन्हें करीब 300 करोड़ की आर्थिक चोट पहुंचाई जा चुकी है। 


पूर्वांचल में मुख्तार अंसारी समेत 104 माफिया और उनके करीबियों के खिलाफ कार्रवाई कर मकान, जमीन, शस्त्र लाइसेंस समेत 103 करोड़ से ज्यादा की संपत्ति जब्त की गई हैं। वहीं लखनऊ में मुख्तार अंसारी उसके बेटों के खिलाफ बड़ी कार्रवाई कर करीब 100 करोड़ रुपये की सम्पत्ति ढहा दी गई और काफी सम्पत्ति कुर्क कर दी गई। मुख्तार को आर्थिक चोट पहुंचाने के लिये उसके भाई सांसद अफजाल अंसारी की सम्पत्ति को भी पुलिस ने अवैध घोषित कर दिया। यह सम्पत्ति अफजाल की पत्नी फरहत के नाम है। मुख्तार के बेहद करीब हरविन्दर उर्फ जुगनू की करीब ढाई करोड़ रुपये की सम्पत्ति कुर्क कर दी गई। इसमें कई लग्जरी वाहन भी थे। पीजीआई कोतवाली के हिस्ट्रीशीटर राम सिंह पर गैंगस्टर एक्ट के तहत 84 करोड़ रुपये की सम्पत्ति कुर्क कर उसका आर्थिक साम्राज्य पूरी तरह से ध्वस्त कर दिया गया। 


अवैध सम्पत्तियों पर जल्दी ही और बड़ी कार्रवाई


पुलिस कमिश्नर सुजीत पाण्डेय ने बताया कि मुख्तार और अन्य माफिया पर कार्रवाई अभी खत्म नहीं हुई है। इनकी व इनके गुर्गों की अपराध के बूते कमाई गई सम्पत्तियों का ब्योरा जुटाया जा रहा है। इनके गुर्गों की करीब 200 करोड़ रुपये की अवैध सम्पत्ति का पता चल चुका है। जल्दी ही इन पर बड़ी कार्रवाई की जाएगी। मुख्तार के 12 गुर्गें दो महीनों में जेल भेजे गए हैं। कई हिस्ट्रीशीटर पर भी जल्दी ही कार्रवाई होगी।


      माफियाओं पर कार्रवाई


प्रयागराज में पूर्व सांसद अतीक, पूर्व विधायक अशरफ समेत 23 के खिलाफ हुई कार्रवाई में 300 करोड़ की आर्थिक चोट। 


वाराणसी सहित पूर्वांचल के जिलों में 104 माफियाओं की 103 करोड़ की संपत्ति जब्त की गई। लखनऊ में मुख्तार अंसारी उनके भाई समेत तीन के खिलाफ हुई बड़ी कार्रवाई में 186 करोड़ की चोट। कानपुर रेंज में 29 अपराधियों की 60.32 करोड़ की संपत्ति जब्त की गई।  


गोरखपुर और देवरिया में चार माफियाओं की 33.10 करोड़ की संपत्ति कुर्क। बरेली और मुरादाबाद मंडल के नौ जिलों में 25 माफिया और गैंगेस्टर की 30 करोड़ की संपत्ति जब्त की गई। पश्चिमी उत्तर प्रदेश में 13 माफिया और गैंगेस्टर की आर्थिक रूप से कमर तोड़ 34.65 करोड़ की संपत्ति मुक्त और कुर्क की गई। ब्रज में माफियाओं के खिलाफ हुई संपत्ति जब्तीकरण की कार्रवाई में नौ माफियाओं की 17.82 करोड़ रुपये की संपत्ति अब तक जब्त की जा चुकी है। 


          ➖    ➖    ➖    ➖    ➖


देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएं


लॉग इन करें : - tarkeshwartimes.page


सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए


मो. न. : - 9450557628


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

लखनऊ में सैकड़ों अरब के कैलिफोर्नियम सहित 8 गिरफ्तार, 3 बस्ती के

समायोजन न हुआ तो विधानसभा पर सामूहिक आत्महत्या करेंगे कोरोना योद्धा

बस्ती पंचायत चुनाव मतगणना : अबतक घोषित परिणाम