"उम्मीद के रंग" पुस्तक का शिक्षा मंत्री ने किया विमोचन


(विशाल मोदी) 


पुस्तक में बस्ती के राष्ट्रपति पदक प्राप्त शिक्षक डॉ. सर्वेष्ट मिश्र सहित मेधावी शिक्षकों की कहानियां समाहित हैं


बस्ती (उ.प्र.)। बस्ती के राष्ट्रपति पदक प्राप्त शिक्षक डॉ. सर्वेष्ट मिश्र व अन्य उत्कृष्ट शिक्षकों के अनुभवों व जीवन यात्रा पर आधारित बेसिक शिक्षा विभाग व टाटा ट्रस्ट द्वारा प्रकाशित 'उम्मीद के रंग' पुस्तक का विमोचन प्रदेश के बेसिक शिक्षा मंत्री डॉ. सतीश द्विवेदी ने बेसिक शिक्षा निदेशक डॉ. सर्वेन्द्र विक्रम बहादुर सिंह जी व अन्य अधिकारियों व विशिष्ठ जनों की उपस्थिति में किया।   



इस अवसर पर बेसिक शिक्षा मंत्री डॉ. सतीश द्विवेदी ने कहा कि टाटा ट्रस्ट का यह प्रयोग उत्साहवर्धक है। इससे अन्य शिक्षकों को भी बेहतर कार्य करने की प्रेरणा मिलेगी। उन्होंने और भी इस तरह के शिक्षकों के साथ ही बेसिक के प्रतिभाशाली बच्चों की कहानियां प्रकाशित करने की बात कही। बेसिक शिक्षा निदेशक डॉ. सर्वेंद्र विक्रम बहादुर सिंह ने इस इस तरह के पुस्तक प्रकाशन के अपने विचार व उसके क्रियान्वयन की पृष्ठभूमि के बारे में बोलते हुए शिक्षकों के प्रयासों की सराहना की। टाटा ट्रस्ट के विश्वम्भर जी ने पुस्तक के प्रकाशन में टाटा ट्रस्ट के प्रयासों की विस्तार से जानकारी दी। एसआईटी की निदेशक ललिता प्रदीप ने सभी का स्वागत करते हुए शक्षकों के अभिनव प्रयासों की सराहना की। 



डॉ. सर्वेष्ट मिश्र ने अपने शिक्षक जीवन के अनुभवों को बताते हुए इस पुस्तक के लेखन से जुड़े अनुभव साझा करते हुए कहा कि यह पुस्तक अन्य शिक्षकों के लिए मार्गदर्शक साबित होगी। उन्होंने बेसिक शिक्षा मंत्री व अन्य अधिकारियों से इस पुस्तक को प्रत्येक विद्यालय में अनिवार्य रूप से भेजे जाने की मांग की। कार्यक्रम में सहायक शिक्षा निदेशक मुबीन अहमद, आसिया फारूकी सहित निदेशालय के अन्य वरिष्ठ शिक्षा अधिकारी व टाटा ट्रस्ट के प्रतिनिधियों के अलावा बड़ी संख्या में शिक्षक लाइव जुड़े रहे।   



उल्लेखनीय है कि बेसिक शिक्षा विभाग के अनेक शिक्षकों द्वारा विद्यालय एवं विद्यार्थियों के प्रति अपने अथक परिश्रम व संघर्ष से विद्यालय में अपना विशेष योगदान दिया गया है। बेसिक शिक्षा विभाग ने टाटा ट्रस्ट के सहयोग से कुछ ऐसे ही 'शिक्षकों के संघर्ष की कहानी, उन्ही की ज़ुबानी'' के दृष्टिगत प्रदेश के सभी सरकारी स्कूलों के ऐसे शिक्षकों को चुना है, जिन्होंने संघषों से जूझकर एक नया आयाम स्थापित कर अपने विद्यालय की पहचान अपने जनपद के साथ साथ पूरे प्रदेश में स्थापित की है। बेसिक शिक्षा ने उनके प्रयासों को सराहा एवं उन प्रयासों को लिपिबद्ध कर यह पुस्तक "उम्मीद के रंग" नाम से प्रकाशित की है।  



पुस्तक में बस्ती के आदर्श प्राथमिक विद्यालय मूड़घाट के नवाचारी प्रधानाध्यापक डॉ. सर्वेष्ट मिश्र के प्रयासों सहित अन्य 24 ऐसे शिक्षकों की संघर्षकथाएँ हैं, जो सरकारी विद्यालयों के अन्य शिक्षकों के लिये एक प्रेरणा का काम किया है और यह संदेश देने में सफल रहे कि विषम परिस्थितियों में कैसे बेहतर काम किया जा सकता है।


       ➖   ➖   ➖   ➖   ➖


देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएं


लॉग इन करें : - tarkeshwartimes.page


सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए


मो. न. : - 9450557628


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बस्ती के पूर्व सीएमओ ने गंगा में लगाई छलांग

लॉक डाउन पूरी तरह खत्म

बस्ती जिले में 35 नये डॉ. तैनात