समाजसेवी ने मजिस्ट्रेट की विदाई पर भेंट की गजानन की प्रतिमा, सौंपा ज्ञापन


(अंकित मिश्र) 


बस्ती (उ.प्र.) । तेज तर्रार ज्वाइंट मजिस्ट्रेट (उपजिलाधिकारी -हर्रैया) प्रेम प्रकाश मीणा का स्थानांतरण हाथरस हो गया है। समाजसेवी चन्द्रमणि पाण्डेय सुदामा जी ने उन्हें भगवान श्री गणेश जी की प्रतिमा भेंट करते हुए उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना की है।  



श्री सुदामा ने वर्तमान परिस्थिति में बस्ती से श्री मीना के स्थानांतरण को दुर्भाग्यपूर्ण बताया है। चन्द्रमणि पाण्डेय ने कहा है कि शासन को कोरोनाकाल में ऐसे प्रतिभाशाली होनहार अधिकारियों के तबादले नहीं करने चाहिए।


समाजसेवी ने विघ्नहर्ता गणेश की मूर्ति भेंट करने के साथ साथ ज्वाइंट मजिस्ट्रेट को दो सूत्रीय ज्ञापन भी सौंपा। राज्यपाल व मुख्यमंत्री को भेजे ज्ञापन में समाजसेवी ने स्कूल खोलने व बाढ़ प्रभावित लोगों हेतु क्षतिपूर्ति की मांग की है। 



जनहित में निरन्तर अधिकारियों व जनप्रतिनिधियों से टकराने और मांगों के न माने जाने पर आमरण अनशन, भूखहड़ताल, जलसत्याग्रह करके अपनी मांगों को मनवाने में माहिर समाजसेवी चन्द्रमणि पाण्डेय सुदामा तेज तर्रार ज्वाइंट मजिस्ट्रेट से इतने प्रभावित रहे कि जहां उन्हें तमाम उच्चाधिकारियों के लिखित आश्वासन पर यकीन नहीं रहता था, वहीं ट्रेनी आईएएस प्रेम प्रकाश मीना के फोन पर दिये आश्वासन पर भी वो अपना प्रदर्शन बंद कर देते थे। जनहित के मामले में श्री पाण्डेय के ही नहीं आम जनता के मांगों का भी श्री मीना त्वरित समाधान करते थे। ऐसे में अचानक उनके हाथरस स्थानांतरण की खबर से उनके चहेतों व मिलने वालों का आज तांता लगा रहा।   



इसी क्रम में जहाँ जाते जाते मुख्यमंत्री व राज्यपाल को सम्बोधित दो सूत्रीय ज्ञापन सौंपकर श्री पाण्डेय ने मांग किया कि सोशल डिस्टेंस के अनुपालन में एक बेंच पर दो बच्चों को उचित दूरी फर बैठाते हुए तीन से चार घंटे के लिए विद्यालयों में शिक्षण कार्य शुरु कराया जाय। इस दौरान कोविड - 19 से सुरक्षा हेतु जहां स्कूल में खेल व लंच न हो वहीं स्कूल वाहन की भी अनुमति न हो, ताकि बच्चे एकत्रित न हों। श्री पाण्डेय ने कहा कि जहां आनलाइन क्लास से बच्चों का पूर्ण समस्या समाधान नहीं हो पा रहा है, वहीं इससे महज एक दो घंटे ही पढाई हो पा रही है। इतना ही नहीं देहात क्षेत्र के लिए यह पूर्णतया अनुपयुक्त है, क्योंकि जहां अधिकांश बच्चों के पास स्मार्टफोन नहीं है वहीं गांवों में नेटवर्क भी सही नहीं रहता। ऐसे में देश के भविष्य हमारे बच्चों की शिक्षा गुणवत्ता में गिरावट आ रही है। 



श्री पाण्डेय ने बस्ती जनपद के हर्रैया तहसील के घाघरा के बाढ व कटान का जिक्र करते हुए कहा कि घाघरा तट पर बसे किसानों को बाढ़ राहत सामग्री के साथ साथ फसल व जमीन की भी क्षतिपूर्ति दी जाय, क्योंकि फसलों के जलमग्न होने से जहां फसलें बर्बाद हुई हैं, वहीं घाघरा के कटान से विगत दो वर्षो में किसानों की हजारों एकड कृषि योग्य भूमि नदी की धारा में विलीन हो चुकी है।  



 श्री पाण्डेय ने ज्वाइंट मजिस्ट्रेट मीना को विघ्नहर्ता गणेशजी की मूर्ति भेंट करते हुए कहा कि जनहित में लोगों की समस्या दूर करने में श्री गणेश जी आपको सदैव आत्मबल प्रदान करें ।


          ➖   ➖   ➖   ➖   ➖


देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएं


लॉग इन करें : - tarkeshwartimes.page


सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए


मो. न. : - 9450557628


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

लखनऊ में सैकड़ों अरब के कैलिफोर्नियम सहित 8 गिरफ्तार, 3 बस्ती के

समायोजन न हुआ तो विधानसभा पर सामूहिक आत्महत्या करेंगे कोरोना योद्धा

बस्ती पंचायत चुनाव मतगणना : अबतक घोषित परिणाम