हेपटाइटिस बी के बारे में जागरूकता जरूरी : डॉ. जावेद


(अंकुर श्रीवास्तव) 


महाराजगंज। प्रख्यात चिकित्सक डॉ0 जावेद अहमद खां ने हेपेटाइटिस बी के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि सभी को हेपेटाइटिस बी के बारे में जागरूक होना चाहिए।  



      डॉ जावेद अहमद खां ने बताया कि यह लीवर की एक गंभीर बीमारी है इसे हेप बी के नाम से भी जाना जाता है। यह रोग आमतौर पर संक्रमित शारीरिक द्रव्यों के संपर्क में आने से फैलता है। हर साल 10 लाख से ज्यादा मामले भारत में पाए जाते हैं। इसके फैलने का कारण यौन संसर्ग। खून से जुड़े उत्पाद जैसे गंदी सुई या बिना जांच किया हुआ खून। असुरक्षित शारीरिक संबंध गर्भावस्था प्रसव या देखभाल के दौरान मां से बच्चों को फैल सकता है। इसके लक्षण अलग-अलग होते हैं जैसे आंखें पीली होना। पेट का दर्द बना रहना अक्सर बच्चों में कोई लक्षण दिखाई नहीं देते हैं। यदि यह बीमारी लंबे समय तक रहती है तो लिवर का काम करना बंद हो सकता है। जिससे लीवर का कैंसर या लीवर में घाव हो सकता है। यदि समय रहते हुए इसका इलाज नहीं हुआ तो मरीज के जान पर आ सकती है। इसके उपचार में गंभीरता लाएं जिससे उचित समय पर इलाज हो और मरीज स्वस्थ हो जाए। अक्सर अपने आप ठीक भी हो जाता है यदि लंबे समय तक रहे तो दवाइयों अन्यथा कई बार लीवर प्रत्यारोपण की जरूरत पड़ती है। अतः प्रति विषाणु अवश्य देवें स्वयं का देखभाल ही मरीज को स्वास्थ्य कर सकता है। शराब के सेवन से बचें। धूम्रपान करने से बचे तली व वसायुक्त आहार-विहार का उपयोग ना करें। बचाव ही एकमात्र उचित इलाज समझे। अपने जीवन में योग का प्रयोग जरूर करें क्योंकि योग ही एक ऐसी विद्या है जिससे आप सारे री प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ा सकते हैं। आता है योग को जीवन में जरूर अपनाये। बताते चले कि डॉ जावेद अहमद खां महराजगंज जिले के बृजमनगंज कस्बे के प्रख्यात चिकित्सक है जो अभी हाल ही के दिनों में गंदे नालियों को साफ करके स्वच्छता का संदेश दिया था।


         ➖   ➖   ➖   ➖   ➖


देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएं


लॉग इन करें : - tarkeshwartimes.page


सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए


मो. न. : - 9450557628


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

लखनऊ में सैकड़ों अरब के कैलिफोर्नियम सहित 8 गिरफ्तार, 3 बस्ती के

समायोजन न हुआ तो विधानसभा पर सामूहिक आत्महत्या करेंगे कोरोना योद्धा

बस्ती पंचायत चुनाव मतगणना : अबतक घोषित परिणाम