एनईपी 2020 के राष्ट्रीय वेबिबार में डॉ. सर्वेष्ट ने शिक्षक विषय की गिनाई खूबियां


(घनश्याम मौर्य) 


आई ए एस ई प्रयागराज एवं एमिटी यूनिवर्सिटी लखनऊ द्वारा आयोजित किया जा रहा वेबीनार


लखनऊ। आई ए एस ई प्रयागराज एवं एमिटी यूनिवर्सिटी लखनऊ उत्तर प्रदेश के संयुक्त तत्वाधान में 20 एपिसोड के राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 पर चल रहे वेबीनार के दूसरे एपिसोड में बस्ती के राष्ट्रपति पदक प्राप्त शिक्षक डॉ सर्वेष्ट मिश्र ने एन ई पी 2020 के भाग 5 शिक्षक विषय पर अपने विचार रखे। वेबिनार में देश भर से एक हजार लोग लाइव जुड़े व लगभग 50 हजार लोग फेसबुक व यूट्यूब के माध्यम से जुड़े।  



वेबिनार का शुभारंभ अपर निदेशक शिक्षा / प्राचार्य आई ए एस ई प्रयागराज ललिता प्रदीप ने करते हुए कहा कि एनईपी का उद्देश्य उत्पादक व्यक्तियों को तैयार करना है जो कि अपने संविधान द्वारा परिकल्पित समावेशी और बहुलता वादी समाज के निर्माण में बेहतर तरीके से योगदान कर सकें।   



डॉ. सर्वेष्ट मिश्र ने नीति के शिक्षक विषय के सभी 29 प्रावधानों पर विस्तार से अपनी बात रखते हुए कहा कि नई शिक्षा नीति शिक्षकों के लिए स्वर्णिम काल लेकर आई है। शिक्षक को पुराना खोया सम्मान वापस मिलने के साथ ही उसे उसके करियर में विभाग में अधिकारी बनने का अवसर देगी। एमिटी यूनिवर्सिटी लखनऊ की असिस्टेंट प्रोफेसर डॉक्टर ऋचा रघुवंशी एवं आईएएसई से दरख्शां आब्दी ने स्कूलों में पाठ्यक्रम और शिक्षण शास्त्र अधिगम समग्र एकीकृत आनंददायी एवं रुचिकर शिक्षा विषय पर अपने विचार रखे। उन्होंने राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी एन टी ए, ऑनलाइन संसाधन का प्रयोग मूल्यांकन एवं आंकलन के मानक आदि विषय पर भी अपने-अपने विचार रखे। राष्ट्रीय शिक्षा नीति में वर्णित शिक्षक विषय पर चर्चा करते हुए कोलकाता विश्वविद्यालय की एसोसिएट प्रोफेसर डॉ सुदेशना लाहिरी ने उत्कृष्ट शिक्षक चयन हेतु मेरिट आधारित छात्रवृत्ति, शिक्षक भर्ती परीक्षा, स्कूल का वातावरण एवं कार्य संस्कृति में परिवर्तन, नेतृत्व कौशल, वेतन भत्ते, पदोन्नति, क्षमता संवर्द्धन कोर्स, समता मूलक समाज हेतु शिक्षक की भूमिका, बुनियादी समझ, नामांकन उपस्थिति आदि शिक्षक से जुड़े प्रावधान विस्तार से अपने विचार रखे।   



समतामूलक और समावेशी शिक्षा सभी के लिए अधिगम विषय पर आई ए एस ई प्रयागराज से स्मिता जायसवाल ने अपने विचार रखते हुए विद्यालय की स्थिति, दिव्यांगों की विद्यालय तक पहुंच, सुविधा एवं उपलब्ध अवसर आदि पर विस्तार से अपनी बात रखी।


वेबीनार का संचालन असिस्टेंट प्रोफेसर एमिटी यूनिवर्सिटी लखनऊ उत्तर प्रदेश से डॉ जयंती श्रीवास्तव ने किया । वेबीनार से हजारों की संख्या में शिक्षक अभिभावक ऑनलाइन प्लेटफॉर्म से लाइव जुड़े और अपने विचारों को भी साझा किया।


            ➖    ➖    ➖    ➖    ➖


देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएं


लॉग इन करें : - tarkeshwartimes.page


सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए


मो. न. : - 9450557628


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बस्ती के पूर्व सीएमओ ने गंगा में लगाई छलांग

लॉक डाउन पूरी तरह खत्म

बस्ती जिले में 35 नये डॉ. तैनात