12 साल से उसी पर टिका है मुकेश अंबानी का वेतन


(प्रशांत द्विवेदी) 


मुंबई। देश के सबसे अमीर शख्स मुकेश अंबानी की अपनी मुख्य कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज से सालाना सैलरी वित्त वर्ष 2019-20 में भी 15 करोड़ रुपए रही। उनकी सैलरी पिछले 12 सालों से इसी स्तर पर है। रिलायंस इंडस्ट्रीज (RIL) के चेयरमैन और एमडी मुकेश अंबानी ने कोविड-19 को देखते हुए इस वित्त वर्ष सैलरी नहीं लेने का फैसला किया 


मुकेश अंबानी ने 2008-09 से सैलरी, अलाउंस और कमीशन सभी मिलाकर अपने मेहनताने को सालाना 15 करोड़ रुपए पर बरकरार रखा हुआ है। वह अब तक सालाना 24 करोड़ रुपए से अधिक छोड़ चुके हैं जबकि कंपनी के सभी पूर्णकालिक निदेशकों के मेहनताने में पिछले वित्त वर्ष के दौरान अच्छी वृद्धि हुई।    



अधिकतर कर्मचारियों से 10-50% की कटौती का फैसला


RIL ने 2019-20 के लिए अपनी सालाना रिपोर्ट में कहा है कि कोविड-19 के कारण देश पर व्यापक सामाजिक और आर्थिक असर हुआ है। इसके मद्देनजर मुकेश अंबानी ने अपनी सैलरी छोड़ने का फैसला किया है। अंबानी ने अप्रैल अंत में अपनी सैलरी छोड़ने का फैसला किया था जब कंपनी के अधिकतर कर्मचारियों के वेतन में 10-50 फीसदी की कटौती करने का फैसला किया गया है। कंपनी के मुताबिक अन्य एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर्स ने भी अपना मेहनताना 50 फीसदी तक छोड़ने का फैसला किया है। 



वित्त वर्ष 2019-20 के लिए मुकेश अंबानी को मिले मेहनताने में 4.36 करोड़ की सैलरी व अलाउंस शामिल है। 2018-19 वित्त वर्ष में उन्हें 4.45 करोड़ रुपए की सैलरी व अलाउंस मिले थे। अंबानी के कमीशन का अमाउंट वित्त वर्ष 2019-20 में 9.53 करोड़ रुपए ही रहा, वहीं perquisites 31 लाख से बढ़कर 40 लाख रुपए हो गए। उन्हें रिटायरमेंट बेनिफिट के रूप में 71 लाख रुपए मिले।


             ➖    ➖    ➖    ➖    ➖


देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएं


लॉग इन करें : - tarkeshwartimes.page


सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए


मो. न. : - 9450557628


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

लखनऊ में सैकड़ों अरब के कैलिफोर्नियम सहित 8 गिरफ्तार, 3 बस्ती के

समायोजन न हुआ तो विधानसभा पर सामूहिक आत्महत्या करेंगे कोरोना योद्धा

बस्ती पंचायत चुनाव मतगणना : अबतक घोषित परिणाम