उ.प्र. में पंचायत चुनाव की तैयारी 

तारकेश्वर टाईम्स (हि.दै.)   (श्याम नरायन चौरसिया) लखनऊ। उत्तर प्रदेश में आगामी अक्टूबर- नवम्बर माह में पंचायत चुनाव होंगे या टल जाएंगे इस पर अटकलों का दौर जारी है। कोरोना संकट के कारण राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा अभी इस पर कोई फैसला नहीं लिया गया है फिर भी आयोग अपनी तरफ से तैयारियां कर रहा है। 



 प्रदेश में पिछली बार 25 दिसम्बर 2015 को ग्राम पंचायतों का गठन हुआ था और 26 दिसम्बर को पहली बैठक हुई थी। इस लिहाज से इस साल 25 दिसम्बर से पहले प्रदेश में पंचायतों के चुनाव नियमतः हो जाने चाहिए। जिसको देखते हुए राज्य निर्वाचन आयोग ने भी सरकार के अन्य विभागों के साथ ही एक तिहाई स्टाफ के साथ कामकाज शुरू कर दिया है। आयोग का मानना है कि न केवल कोरोना के कारण बाहर के प्रदेशो से लौटे नागरिकों के कारण मतदाताओं में इस बार इजाफा होगा और चुनाव लड़ने वालों की संख्या भी काफी बढ़ेगी। 2015 में हुए प्रदेश के पिछले पंचायत चुनाव की वोटर लिस्ट में 11.7 करोड़ वोटर थे, इस बार यह तादाद काफी बढ़ेगी।  यद्यपि कोरोना संकट के कारण सरकार ने अभी प्रदेश सरकार ने इन पंचायतों का कार्यकाल बढ़ाने के बारे में कोई फैसला नहीं किया है इसलिए आयोग भी अक्तूबर-नवम्बर में ही इन चुनावों की तैयारी कर रहा है। आयोग के एडीशनल कमिश्नर वेद प्रकाश वर्मा के मुताबिक चुनाव के लिए मतपत्रों की छपाई, मतपेटियों व चुनाव सामग्री की आपूर्ति आदि के टेण्डर की प्रक्रिया कोरोना संकट की वजह से रोक दी गई थी, उसे अब फिर शुरू किया गया है।  आयोग आगामी अक्टूबर - नवम्बर में ही चुनाव करवाने को लेकर अपनी तैयारी कर रहा है, लेकिन इस बारे में अंतिम निर्णय तो प्रदेश सरकार को लेना है। 
         ➖   ➖   ➖   ➖   ➖
देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएँ 
लाॅग इन करें : - tarkeshwartimes.page
सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए 
मो. न. : - 9450557628


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

लखनऊ में सैकड़ों अरब के कैलिफोर्नियम सहित 8 गिरफ्तार, 3 बस्ती के

समायोजन न हुआ तो विधानसभा पर सामूहिक आत्महत्या करेंगे कोरोना योद्धा

बस्ती : ब्लॉक रोड पर मामूली विवाद में मारपीट, युवक की मौत