लखनऊ : एक्स-रे से होगी कोरोना जांच

तारकेश्वर टाईम्स (हिदै)


                       (विशाल मोदी )
लखनऊ । दुनिया भर को अपनी चपेट में लेने वाले कोरोना वायरस महामारी से निपटने के लिए पूरी दुनिया कोशिश कर रही है। अपनी-अपनी क्षमता के अनुसार हर कोई कोरोना के खिलाफ लड़ाई में अपना योगदान दे रहा है।    



इसी कड़ी में लखनऊ के केजीएमयू और अब्दुल कलाम टेक्निकल यूनिवर्सिटी ने आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की मदद से मिलकर  एक प्रोग्राम तैयार किया है। इससे सिर्फ सीने यानि छाती का एक्स-रे (X-Ray) देखकर यह पता किया जा सकेगा कि मरीज कोरोना संक्रमित है या नहीं। इसे कोरोना संक्रमण का पता करने के क्रम में एक बड़ा कदम बताया जा रहा है।
गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश के सबसे बड़े अस्पताल केजीएमयू ने प्रदेश के तमाम जिलों से कोविड मरीजों के  छाती का एक्स-रे मंगाकर इस पर काम शुरू कर दिया है, जो जल्द ही क्लीनिकल ट्रायल के लिए भेजा जाएगा। लखनऊ के केजीएमयू ने बाकायदा एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करके इसकी जानकारी दी है।  



प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा गया कि चीन और अमेरिका के बाद केजीएमयू जल्द ही एक्स-रे देखकर कोविड मरीजों की पहचान करेगा। एक्स-रे से ना सिर्फ कोविड मरीजों का पता चलेगा बल्कि फेफड़े के संक्रमण से यह भी पता लग पाएगा कि मरीज कब और कितनी जल्दी ठीक हो सकता है।
बता दें कि जब चीन में रैपिड टेस्ट कम हो रहे थे तो आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का यह तरीका कारगर साबित हुआ था। इस मॉडल में कोविड-19 रोगियों की पहचान करने का काम अमेरिका, ब्रिटेन, चीन और कुछ अन्य देश भी कर रहे हैं। अब जल्द ही भारत में भी केजीएमयू से यह शुरू होने जा रहा है।
        ➖   ➖   ➖   ➖   ➖
देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएँ 
लॉग इन करें : - tarkeshwartimes.page
सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए 
मो. न. : - 9450557628


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

लखनऊ में सैकड़ों अरब के कैलिफोर्नियम सहित 8 गिरफ्तार, 3 बस्ती के

समायोजन न हुआ तो विधानसभा पर सामूहिक आत्महत्या करेंगे कोरोना योद्धा

बस्ती : ब्लॉक रोड पर मामूली विवाद में मारपीट, युवक की मौत