“कोरोनोवायरस (COVID-19) काल में  स्वास्थ्य का निर्धारण एवं बचाव” : आनन्द गौरव

तारकेश्वर टाईम्स (हि.दै.)
स्वास्थ्य अकेले में नहीं रहता। कुछ कारक होते हैं जो कि स्वास्थ्य को प्रभावित करते हैं फिर चाहे व्यक्ति अकेले में हो या फिर  समाज में जिसमें कि वह रहता है, यह कारक अंतरक्रिया करते हैं। यह अंतरक्रिया स्वास्थ्य को बढ़ावा अथवा उसे आघात पहुंचा सकती है। व्यक्ति का स्वास्थ्य और सम्पूर्ण समाज ऐसी बहुत सी अंतरक्रियाओं का परिणाम हो सकता है - आनन्द गौरव शुक्ल       
स्वास्थ्य का निर्धारण इस प्रकार किया जा सकता है -
1. अनुवांशिकता - प्रत्येक व्यक्ति के शारीरिक व मानसिक गुण कुछ हद तक उसके गुण सूत्रों की प्रगति से निश्चित होते हैं जो कि उसके अभिभावकों के गुणसूत्रों से निश्चित होती है और ये गुणसूत्र उसे उसके अभिभावकों के संयोग है ! 
2. वातावरण – हिप्पोरेट्स पहला विचारक था जिसने बीमारियों को वातावरण से जोड़ा जैसे कि मौसम, जल, भोजन, हवा बाहय वातावरण उन चीजों से बना है जिससे व्यकित जनन के बाद सम्पर्क में आता है। इसे तीन घटकों में विभाजित किया जा सकता है।
1.शारीरिक घटक 2. जीव वैज्ञानिक घटक 3.मानसिक व सामाजिक घटक  



ये सभी अथवा कोई एक व्यक्ति के स्वास्थ्य को प्रभावित करते हैं और इसका सीधा प्रभाव होता है। यदि वातावरण किसी व्यक्ति के अनुकूल है तो वह अपनी शारीरिक व मानसिक क्षमताओं का भरपूर प्रयोग कर सकता है।
3. जीवन पद्धति – आज के आधुनिकता के युग में जीवन पद्धति का बहुत ही महत्वपूर्ण स्थान है । इसका अर्थ है लोगों के रहन-सहन का तरीका और यह सामाजिक मूल्यों, व्यवहारों और गतिविधियों को प्रतिबिमिबत करता है। जीवन पद्धति विभिन्न सामाजिक अन्तर-प्रक्रिया द्वारा विकसित होता है जैसे अभिभावक , समूहों, दोस्तों, भार्इ-बहन, स्कूल और द्वारा अन्तत क्रिया। स्वस्थ जीवन पद्धति स्वास्थ्य की जरूरत है, उदाहरण के लिए पौष्टिकता, पर्याप्त नींद, शारीरिक गतिविधियां आदि। (आनन्द गौरव शुक्ल बस्ती में गैर संचारी रोग नियंत्रण कार्यक्रम के प्रभारी जिला कार्यक्रम अधिकारी हैं और कोरोना वायरस से बचाव की महत्वपूर्ण जानकारियां दे रहे हैं )
वर्तमान दिनों (कोरोना काल) में स्वास्थ्य समस्याओं को विशेषतया कोरोना वायरस (COVID-19) एक संक्रामक रोग  से है जो एक नए खोजे गए कोरोनवायरस के कारण होता है,COVID-19 वायरस से संक्रमित अधिकांश लोग हल्के से मध्यम श्वसन बीमारी का अनुभव करेंगे और विशेष उपचार की आवश्यकता के बिना ठीक हो जाएंगे। वृद्ध लोगों, और हृदय रोग, मधुमेह, पुरानी श्वसन बीमारी और कैंसर जैसी अंतर्निहित चिकित्सा समस्याओं वाले लोगों में गंभीर बीमारी विकसित होने की अधिक संभावना है। संचरण को रोकने और धीमा करने के लिए सबसे अच्छा तरीका है COVID-19 वायरस के बारे में अच्छी तरह से बताया जाय कि यह किस बीमारी का कारण है और यह कैसे फैलता है,अपने हाथों को धोने या अल्कोहल आधारित सेनिटाईजर का उपयोग तथा सामाजिक दूरी बना के अपने आप को और दूसरों को संक्रमण से बचाया जा सकता है ।
COVID-19 वायरस मुख्य रूप से लार की बूंदों या नाक से तब फैलता है जब किसी संक्रमित व्यक्ति को खांसी या छींक आती है । इसलिए यह महत्वपूर्ण है कि आप जीवन सम्बन्धी भारतीय  संस्कृति के कई शिष्टाचार सीखें तथा अभ्यास करें !
          ➖   ➖   ➖   ➖   ➖
देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएँ 
लॉग इन करें : - tarkeshwartimes.page
सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए 
मो. न. : - 9450557628


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

लखनऊ में सैकड़ों अरब के कैलिफोर्नियम सहित 8 गिरफ्तार, 3 बस्ती के

समायोजन न हुआ तो विधानसभा पर सामूहिक आत्महत्या करेंगे कोरोना योद्धा

बस्ती पंचायत चुनाव मतगणना : अबतक घोषित परिणाम