फोन पर काउन्सिलिंग करेगा एम्स

तारकेश्वर टाईम्स (हि.दै.)


           (ऋषभ शुक्ल)
बस्ती  (उ.प्र.) । कोरोना वायरस द्वारा फैली महामारी के संक्रमण काल के दौरान देश में लॉकडाउन है। ऐसे में मानसिक रोगियों का इलाज करना चुनौतीपूर्ण है। इसे देखते हुए एम्स के मनोरोग विभाग ने मनोरोगियों के इलाज के लिए टेली मनोचिकित्सा की सलाह देते हुए आवश्यक दिशानिर्देश जारी किये हैं । इसकेे तहत संचार के विभिन्न साधनों जैसे मोबाइल फोन, टेक्स्ट मैसेज, वाट्सऐप, ईमेल आदि के जरिए मनोरोगियों को इलाज परामर्श प्रदान करने को कहा है। 
लॉकडाउन की अवधि में मनोरोगियों को अस्पताल पहुंचने और दवा खरीदने में भी कठिनाई हो रही है। दवा की अनुपलब्धता और मानसिक रोगियों को समय पर दवा नहीं मिलने के कारण उनके विकार के बढ़ने या ठीक होने की गति रूकने की संभावना है। ऐसे में टेली मनोचिकित्सा अनुकूल और सार्थक पहल है जिसमें मनोचिकित्सक रोगियों को वायरस संक्रमण से बचाकर उनका मूल्यांकन कर उनके स्वास्थ्य संबंधी परामर्श प्रदान कर सकेंगे। 
( कोरोना के खिलाफ जागरूक करते स्वास्थ्य कार्यकर्ता - फाईल फोटो )  खासकर ऐसे रोगी जिनका मनोरोग विभाग द्वारा पहले से ही इलाज किया जा रहा है, जो भर्ती हैं, और जिन्हें फॉलोअप के लिए बुलाया गया हो, नए रोगी को भी जिन्हें इलाज की जरूरत है आदि को चिकित्सकीय लाभ मिलेगा। सरकारी टेलीमेडिसीन प्रैक्टिस गाइडलाइन के अनुसार दिए केन्द्रीकृत नंबर 9999625860 पर मरीजों को मैसेज भेजकर चिकित्सकीय सेवा लेना होगा जिसमें उनका नाम, एप्वाइंटमेंट की तारीख और यूएचआई़डी नंबर देना अनिवार्य होगा। इसके बाद चिकित्सक ऑडियो या वीडियो कॉल द्वारा पंजीकृत या अन्य मरीजों को परामर्श देंगे। चिकित्सक दवाएं लेने और अन्य परामर्श डिजीटल पर्ची वाट्सऐप के माध्यम से मरीजों को भेजेंगे।
      ➖   ➖   ➖   ➖   ➖
देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएँ 
लाॅग इन करें : - tarkeshwartimes.page
सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए 
मो. न. : - 9450557628


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

अयोध्या : नहाते समय पत्नी को किस करने पर पति की पिटाई

बस्ती : पत्नी और प्रेमी ने बेटी के सामने पिता को काटकर मार डाला, बोरे में भरकर छिपाई लाश

नवनिर्वाचित विधायक और समर्थकों पर एफआईआर