लॉकडाउन में 35 दिन तक फंसी रही बारात 

तारकेश्वर टाईम्स (हि.दै.)
अलीगढ़ । लॉकडाउन के चलते अलीगढ़ में एक बारात पिछले 35 दिन से फंसी थी जिसे रविवार को धूमधाम के साथ झारखंड विदा किया गया। डीएम की अनुमति मिलने के बाद दुलहन को पूरी रस्मों के साथ विदा किया गया। इस दौरान गांव के लोगों ने दुलहन को भेंट भी दी। 35 दिन तक गांव के लोगों ने ही दूल्हा-दुलहन और बारातियों का ध्यान रखा इसलिए विदाई के समय सभी भावुक हो गए।     



दरअसल अलीगढ़ स्थित अतरौली में गांव विधीपुर निवासी नरपत सिंह आर्य की बेटी सावित्री आर्य की शादी 22 मार्च को हुई थी। 21 मार्च की रात बारात झारखंड के जिला धनबाद के तहसील तोपचांची के गांव वैलमी से आई थी। बारात में दूल्हा विजय कुमार के परिवार के 12 सदस्य शामिल थे लेकिन 22 मार्च को जनता कर्फ्यू और फिर लॉकडाउन के चलते बारात यहीं फंस गई।   
लॉकडाउन को 3 मई तक बढ़ाए जाने के बाद 14 अप्रैल को विदाई एक बार फिर टल गई। इसके बाद अधिवक्ता कल्याण समिति के अध्यक्ष नवाब सिंह एडवोकेट ने परिजनों के साथ मिलकर एटा सांसद राजवीर सिंह से पैरवी की। इसके बाद सांसद ने डीएम से बात की और फिर प्रशासन ने रविवार को विदाई की अनुमति मिली। इस मौके पर पूर्व जिला पंचायत सदस्य सुषमा रानी और नवाब सिंह एडवोकेट वगैरह भी ‌दूल्हा-दुलहन को आशीर्वाद देने पहुंचे।
       ➖   ➖   ➖   ➖   ➖
देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएँ 
लाॅग इन करें : - tarkeshwartimes.page
 सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए 
मो. न. : - 9450557628


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बस्ती के पूर्व सीएमओ ने गंगा में लगाई छलांग

लॉक डाउन पूरी तरह खत्म

बस्ती जिले में 35 नये डॉ. तैनात