लाॅक डाउन में रसूखदार परिवार को घुमा रहे थे ये अधिकारी: क्वरंटाईन

तारकेश्वर टाईम्स (हि.दै.)


 खंडाला से महाबलेश्वर पहुंचे कपिल वाधवान और परिवार के 22 लोगों पर लॉकडाउन के नियम तोड़ने का केस दर्ज : सभी क्वारंटाईन , आईपीएस अमिताभ गुप्ता को छुट्टी 
मुंबई । कोरोना संक्रमण और लॉकडाउन के बीच महाराष्ट्र सरकार के शीर्ष अधिकारी की ओर से लापरवाही का मामला सामने आया है। यहां गृह विभाग के प्रधानसचिव (विशेष) के तौर पर पदस्थ आईपीएस अधिकारी अमिताभ गुप्ता ने डीएचएफएल के प्रमोटर कपिलशऔर धीरज वाधवान के परिवार के लिए इमरजेंसी पास जारी किया । इसी पास के आधार पर वाधवान फैमिली के 23 लोग बुधवार को 5 गाड़ियों में सवार होकर खंडाला से महाबलेश्वर स्थित अपनेफार्महाउस पहुंच गए। उनके साथ गार्ड और रसोइए भी गए हैं। लापरवाही के मामले में आईपीएस गुप्ता को अनिवार्य छुट्टी पर भेजा गया है। वाधवान परिवार एक बिल्डिंग में क्वारंटाईन है , इनके खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है । क्वारंटाईन अवधि के बाद इन्हें गिरफ्तार किया जाएगा ।   



महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री और विपक्ष के नेता देवेंद्र फडणवीस ने इस मामले में जांच की मांग की थी। इसके अलावा भाजपा नेता किरीट सोमैया ने गुप्ता की ओर से जारी लेटर की कॉपी ट्वीट करते हुए लिखा - उद्धव ठाकरे सरकार वाधवान परिवार को वीवीआईपी ट्रीटमेंट दे रही है।
इसके बाद गृह मंत्री अनिल देशमुख नेकहा किवाधवान परिवार के 23 सदस्य महाबलेश्वर कैसे पहुंचे इसकी जांच होगी। उन्होंने ट्वीट किया, 'मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के साथ चर्चा के बाद प्रधान सचिवगुप्ता को उनके खिलाफ जांच जारी रहने तक अवकाश पर भेजा गया है। कानून सभी के लिए समान है।'
आईपीएस गुप्ता ने लेटर में क्या लिखा था ?
अमिताभ गुप्ता ने आधिकारिक पत्र मेंलिखा, 'निम्न लिखित (व्यक्ति) को मैं अच्छी तरह से जानता हूं , क्योंकि वे मेरे पारिवारिक मित्र हैं , और परिवार में इमरजेंसी के कारण वह पुणे के खंडाला से सतारा के महाबलेश्वरतक की यात्रा कर रहे हैं। इन्हें गंतव्य तक पहुंचने में सहयोग किया जाए।' इस पत्र में वाधवान परिवार के 5वाहनों की डिटेल भी दी गई थी। हालांकि उनके इस कदम से मुख्यमंत्री ठाकरे नाराज हो गए, क्योंकि सरकार सभी लोगों को घर में रहने की सलाह दे रही है।
सभी लोग क्वरंटाइन, सीबीआई - ईडी अलर्ट
सतारा पुलिस ने कपिल वाधवान और उनके परिवार के 22 लोगों के खिलाफ लॉकडाउन के नियम तोड़ने पर केस दर्ज किया है। गुरुवार रात सभी को दीवान फार्महाउस से हिरासत में लेकर एक बिल्डिंग में क्वारैंटाइन किया गया है। जहां इनकी स्क्रीनिंग कराई गई।    



दूसरी ओर, कपिल और धीरज वाधवान के खिलाफ सीबीआई ने लुकआउट नोटिस जारी किया था। दोनों यस बैंक और डीएचएफएल धोखाधड़ी के मामले में आरोपी हैं।पिछले महीने कोरोना का हवाला देकर दोनों ईडी के सामने पेश नहीं हुए। अब सीबीआईऔर ईडी पुलिस के संपर्क में हैं।
महाराष्ट्र में संक्रमण के अब तक 1380 पॉजिटिव केस सामने आ चुके है, वहीं 97 की मौत हो चुकी है। देशभर में मौत और संक्रमण के अब तक सबसे ज्यादा मामले महाराष्ट्र में है। गुरुवार को ही राज्य में सबसे ज्यादा 229 नए केस सामने आए, जिसमें सबसे ज्यादा 79 केस मुंबई (बीएमसी क्षेत्र) के हैं।
        ➖   ➖   ➖   ➖   ➖
देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएँ 
लाॅग इन करें : - tarkeshwartimes.page
सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए 
मो. न. : - 9450557628


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बस्ती के पूर्व सीएमओ ने गंगा में लगाई छलांग

लॉक डाउन पूरी तरह खत्म

बस्ती जिले में 35 नये डॉ. तैनात