कोरोना पीड़ित जमाती ने डा. पर थूका

तारकेश्वर टाईम्स (हि.दै.)


उत्तर प्रदेश में कुल संक्रमितों में आधी संख्या तब्लीगी जमातियों की है। लेकिन ये न तो डॉक्टरों का सहयोग कर रहे हैं न ही नियमों का पालन कर रहे हैं।
उत्तर प्रदेश में अब तक 305 कोरोना पॉजिटिव केस, इनमें 159जमाती संक्रमित हैं । अब तक राज्य में 1203 तब्लीगी जमातियों को ढूंढकर उन्हें क्वारैंटाइन किया गया ।
गाजियाबाद में डॉक्टरों के साथ बदलसूकी का मामला सामने आने के बाद मुख्यमंत्री ने कहा था- ये मानवता के दुश्मन हैं, इन पर रासुका लगे (सिद्धार्थ कुमार)
लखनऊ । उत्तर प्रदेश में कोरोनावायरस (कोविड-19) से संक्रमण के मामले तेजी से बढ़े हैं। राज्य के 32 जिलों में अब तक 305कोरोना पॉजिटिव मिल चुके हैं। इनमें एक इंडोनेशियाई व सात बांग्लादेशी नागरिकों समेत 159तब्लीगी जमाती पॉजिटिव पाए गए हैं। वहीं, अब तक 1203 जमाती ढूंढकर उन्हें क्वारैंटाइन किया जा चुका है। जमाती न तो इलाज में सहयोग करने के लिए तैयार हैं न ही घरों से बाहर आकर अपनी जांच करा रहे हैं। अब इसे जहालत कहें या बदमिजाजी, दीन-धर्म की बात करने वाले जमाती समाज के लोग दुश्मनों जैसी हरकत कर रहे हैं। कहीं वे डॉक्टर्स पर थूक रहे हैं तो कहीं मेडिकल स्टाफ से अभद्रता कर रहे हैं ।   



कानपुर : - डॉक्टर पर थूका, गाली दी
मेरठ का रहने वाला 33 वर्षीय युवक जमाती है, जो दिल्ली में हुई जमात से वापस आकर कानपुर में नौबस्ता स्थित खैर मस्जिद में छिपा था। उसे 31 मार्च को मस्जिद से बाहर निकालकर क्वारैंटाइन किया गया। रविवार को उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई तो उसने हंगामा करना शुरू कर दिया। सरसौल सीएचसी में शिफ्ट करने के दौरान उसने डॉक्टरों पर थूक दिया और गाली गलौच करने लगा। उसके बाद खुद को कमरे में बंद कर दिया। टीम ने उस पर रासुका लगाने व सीएम योगी से शिकायत करने की धमकी दी तो कमरे से बाहर निकला। लेकिन, अभी भी वह इलाज में सहयोग नहीं कर रहा है।
फिरोजाबाद : - 27 जमातियों ने नियम तोड़कर पढ़ी नमाज, दीवारों पर थूका
21 मार्च को दिल्ली के मरकज से लौटे सात तब्लीगी जमातियों में से चार में बीते शुक्रवार को कोरोना पॉजिटिव पाया गया। इसके बाद उनके संपर्क में आने वाले 27 लोगों को मेडिकल कॉलेज में जांच के लिए भेजा गया। लेकिन, सभी वार्ड नंबर 35 के बाहर आ गए। एक साथ बैठकर नमाज पढ़ी। आरोप है कि, इन लोगों ने दीवारों पर थूका और रोकने पर लोगों के साथ अभद्रता की। इन सभी पर महामारी एक्ट के तहत केस दर्ज किया गया है।
आगरा : - 31 जमातियों में कोरोना, इनकी ट्रैवेल हिस्ट्री पता लगाना चुनौती
ताजनगरी में अबतक 48 केस कोरोना पॉजिटिव मिल चुके हैं। इनमें 31 जमाती हैं। इन सभी का आइसोलेशन वार्ड में इलाज चल रहा है।   


इन जमातियों की ट्रैवेल हिस्ट्री खोजना स्वास्थ्य विभाग के लिए चुनौती है। ऐसी दशा में स्वास्थ्य विभाग ने जांच एजेंसियों से सहयोग मांगा है। जमातियों के कॉल डिटेल खंगाला जा रहा है। यह पता लगाया जा रहा है कि, जमाती फरवरी व मार्च के महीने में कहां-कहां गए ?
शामली : - छह और जमाती कोरोना संक्रमित
त्रिपुरा के रहने वाले 6 जमाती कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। ये सभी दिल्ली में हुई जमात में शामिल होने के बाद शामली लौटे थे। यहां अब 8 जमाती पॉजिटिव पाए गए हैं। मेरठ मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉक्टर आरसी गुप्ता ने बताया- रविवार को 138 सैंपल की जांच हुई। अधिकतर जमाती थे। इनमें शामली के झिंझाना क्षेत्र से आए सैंपल में पांच संक्रमित मिले हैं ।
सीतापुर : - 33 जमातियों में 8 कोरोना पॉजिटिव
सीएमओ आलोक कुमार ने बताया कि, पिछले दिनों प्रशासन द्वारा की गई जांच पड़ताल में खैराबाद इलाके के अर्जुनपुर में कुल 33 जमाती मिले थे, इनमें बांग्लादेश के 10 जमाती थे। ये सभी दिल्ली के मरकज से लौटे थे। इनके साथ एक सहयोगी महाराष्ट्र और एक आसाम का था। बांग्लादेशियों के पासपोर्ट जब्त किए जा चुके हैं, साथ ही एफआईआर भी दर्ज हुई थी। इन सभी को जेएलएमडी कॉलेज में क्वारैंटाइन कराकर इनके सैम्पल जांच के लिए भेजे गए थे। आज मिली रिपोर्ट के अनुसार इनमें से 8 लोग पॉजिटिव पाए गए हैं। खैराबाद इलाके को सील कर दिया गया है।
मेरठ : - मेडिकल टीम से अभद्रता
जिले में अब तक 341 जमाती खोजे गए हैं, जिसमें 20 विदेशी भी शामिल हैं। जिले में अब तक 32 मरीज मिल चुके हैं। इनमें 8 जमाती हैं। रविवार को स्वास्थ्य विभाग ने मवाना क्षेत्र से 9 मस्जिदों से 27 लोगों को खोजा है, जो जमातियों के संपर्क में आए थे। लेकिन, अकबरपुर सादात में सऊदी से आए लोगों की जांच को पहुंची डब्लूएचओ की टीम के साथ लोगों ने अभद्रता की। इस संबंध में टीम के सदस्यों ने एसडीएम से शिकायत की है। मामले में एसओ बहसूमा को आरोपितों के खिलाफ कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।
तब्लीगी जमातियों पर मुख्यमंत्री सख्त
इससे पहले गाजियाबाद फिर उसके बाद कानपुर, झांसी में डॉक्टरों के साथ बदसलूकी का मामला सामने आने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कड़ा रुख अपनाते हुए कहा था- तब्लीगी जमात से जुड़े हर एक शख्स को हर हाल में ढूंढा जाए। उसकी पूरी निगरानी हो। इनमें जो विदेशी हैं, उनका पासपोर्ट जब्त किया जाए। यदि किसी ने कानून तोड़ा है तो उस पर रासुका में केस दर्ज किया जाए ।
देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएँ 
लाॅग इन करें : - tarkeshwartimes.page
सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए 
मो. न. : - 9450557628


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बस्ती के पूर्व सीएमओ ने गंगा में लगाई छलांग

लॉक डाउन पूरी तरह खत्म

बस्ती जिले में 35 नये डॉ. तैनात