कोरोना हॉटस्पॉट से बाहर निकले तो होगी एफआईआर

तारकेश्वर टाईम्स (हि.दै.)


बस्ती (सू.वि. उ.प्र.) । कोरोना वायरस के कारण हॉट स्पॉट किए गए स्थल तुरकहिया, मिल्लत नगर  तथा गिदही खुर्द से बाहर निकलने वाले लोगों के विरुद्ध आईपीसी की धारा 188 के अंतर्गत कार्यवाही करने के लिए जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन ने पुलिस विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिया है। कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित समीक्षा बैठक में उन्होंने पाया कि हॉट स्पॉट एरिया से लोग बाहर निकल रहे हैं। 
  उन्होंने कहा कि हॉट स्पॉट एरिया में दूध, फल , सब्जी , खाद्यान्न पका-पकाया भोजन, दवाएं पहुंचाने की व्यवस्था की गई है। ऐसी स्थिति में बाहर निकल कर नागरिक लॉक डाउन के नियमों को तोड़ रहे हैं। इसे किसी भी हालत में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि दुग्ध विभाग, मंडी समिति, आपूर्ति विभाग द्वारा सभी गलियों में लेखपाल और अमीन द्वारा सामग्री पहुंचाई जा रही है। प्रत्येक गली में फोर्स भी लगाई गई है। उनका दायित्व है कि वह लोगों को बाहर निकलने से रोके।
  जिलाधिकारी ने हॉट स्पॉट एरिया के बाहर एक कोटेदार द्वारा हॉट स्पॉट एरिया के लोगों को फोन करके खाद्यान्न लेने के लिए बुलाने पर जिलाधिकारी ने गहरी आपत्ति जताई और जिला पूर्ति अधिकारी को निर्देश दिया कि इस कोटेदार का स्पष्टीकरण तलब कर प्रस्तुत करें।       
   उन्होंने ग्रामीण क्षेत्रों में पेयजल की सुविधा उपलब्ध कराने के लिए जल निगम तथा पंचायती राज विभाग को संयुक्त रूप से इंडिया मार्क-2 हैंड पम्पो का सर्वेक्षण कर उन्हें ग्राम प्रधान के माध्यम से ठीक कराने के लिए निर्देशित किया है। इसके साथ ही 40 पाइप लाइन पेयजल योजनाओं के बारे में जानकारी प्राप्त करते हुए उन्हें भी चालू हालत में रखने का निर्देश दिया है। उन्होंने बताया कि 01 मई से प्रत्येक कार्ड पर 01किलो चना दाल उपलब्ध कराया जाना है। खाद्य एवं विपणन विभाग इसके पहले से ही तैयारी पूरी कर  सुनिश्चित कर ले की 30 अप्रैल तक सभी कोटेदार इसका उठान करें।
             उन्होंने श्रम विभाग को निर्देश दिया कि अगले 3 दिनों में अवशेष 2900 मजदूरों के खाते में ₹1000 की धनराशि पहुंच जाए। श्रम अधिकारी ने बताया कि 22891 मजदूरों के खाते में यह धनराशि पहुंचा दी गई है। उन्होंने यह भी निर्देश दिया कि अन्य जनपदों के मजदूर जो इस जिले में हैं, उनकी सूची प्राप्त करें तथा अपर जिलाधिकारी को प्रस्तुत करे। उन्होंने यह भी कहा कि ईट-भट्ठों पर कार्यरत मजदूरों का सर्वे करके अवगत कराएं कि वे यहां रुकना चाहते हैं या वे अपने जनपद को जाना चाहते हैं।
  गेहूं खरीद की समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि पिछले सीजन में जिन किसानों ने गेहूं बेचा था उनके मोबाइल नंबर पर केंद्र प्रभारी वार्ता करें तथा दिन निर्धारित कर उनका गेहूं खरीदने की कार्यवाही करें। उन्होंने कुल गेहूं क्रय केंद्र 89 में से 64 के निष्क्रिय होने पर असंतोष व्यक्त किया तथा इन केंद्रों के जिला प्रबंधको को 24 घंटे के अंदर केंद्र संचालित कर रिपोर्ट देने का निर्देश दिया है।
           विद्युत विभाग के कार्यों की समीक्षा करते हुए उन्होंने निर्देश दिया कि प्रत्येक एई/ जेई अपने तैनाती स्थल पर उपस्थित रहे , कार्यालय के अवशेष कार्यों को संपादित करें। यदि 20 अप्रैल से लॉक डाउन से छूट मिलती है तो सभी को तत्काल अपना कार्य पूरा करना होगा। ओवरलोड के कारण फूंक रहे ट्रांसफार्मर 48 घंटे के अंदर बदले जाएं। बैठक में सीडीओ सरनीत कौर ब्रोका, एडीएम रमेश चंद्र, सीएमओ डॉ जे पी त्रिपाठी, डीएसओ रमण मिश्र, डिप्टी आरएमओ गोरखनाथ तिवारी, उप निदेशक कृषि की डॉ० संजय त्रिपाठी ,जिला कृषि अधिकारी संजेश श्रीवास्तव , सीमा गुप्ता, अधिशासी अभियंता विद्युत संतोष कुमार, एसडीएम सदर श्री प्रकाश शुक्ल, सीओ सदर गिरीश सिंह उपस्थित रहे।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

लखनऊ में सैकड़ों अरब के कैलिफोर्नियम सहित 8 गिरफ्तार, 3 बस्ती के

समायोजन न हुआ तो विधानसभा पर सामूहिक आत्महत्या करेंगे कोरोना योद्धा

बस्ती पंचायत चुनाव मतगणना : अबतक घोषित परिणाम