जीव - जन्तुओं का पेट भर रहा बादशाही अखाड़ा

तारकेश्वर टाईम्स (हि.दै.)


बस्ती  (उप्र) । रेडक्रास सोसायटी के सचिव कुलवेन्द्र सिंह मजहबी ने कोरोना वायरस संक्रमण के दृष्टिगत अपने व्यापारिक प्रतिष्ठान बादशाह मैरेज हाल पर लॉक डाउन कै समय में बेजुबानों के लिए खाना पानी की व्यवस्था करते हुए इस स्थान का नाम बादशाही अखाड़ा रख दिया है ।   
  ये यहां अपने मौजूद संसाधनों के अनुसार गौवंशों से लेकर चिड़िया और बन्दरों का भी पेट भरने में लगे रहते हैं । इतना ही नहीं ये गाड़ी में फल और बिस्कुट इत्यादि लेकर कम से कम एक चक्कर शहर के जरूर लगाते हैं और जहां भी इन्हें भूखे प्यासे बन्दर या अन्य पशु पक्षी दिखाई पड़ते हैं , वहीं रूक कर उन्हें खिला कर खुद की संतुष्टि का एहसास करते हैं । बात करने पर कहते हैं कि ऐसा लगता है खाते पशु पक्षी हैं और पेट मेरा भरता है । डीएम आफिस के सामने बन्दरों ने इन्हें पहचान लिया है । जैसे ही इनकी गाड़ी आकर खड़ी होती है सब आकर घेर कर खड़े हो जाते हैं ।   डीएम आफिस बस्ती के सामने बन्दरों को आज केले और बिस्कुट बांटे गये - वीडियो देखने के लिए ब्लू लिंक को क्लिक करें : - https://youtu.be/dSpb9JN-zz4
   श्री मजहबी ने बताया कि बादशाही अखाड़ा पर गौवंशों के लिए भूसा , छोटे आलू , अरहर की भूसी चोकर और पानी की व्यवस्था की गयी है । बन्दरों के लिए भीगा चना, छोटे आलू और पानी की व्यवस्था है । कुत्तों के लिए फीका बिस्कुट , रोटी और उबला चना दिया जाता है । बिल्ली के लिए दूध और उबला चिकन दिया जाता है तथा पक्षियों के लिए लईया और पानी दिया जाता है ।   
सामाजिक कार्यों को समर्पित कुलवेन्द्र सिंह मजहबी का कहना है कि बादशाही अखाड़ा तक पहुंचने वाले किसी भी जीव जन्तु को भूखा प्यासा नहीं रहने दिया जाएगा । आज डीएम आफिस पर इनके साथ डा. नवीन सिंह , राकेश चन्द्र बिन्नू , संदीप गोयल और काशी दूबे आदि ने बन्दरों के साथ अपने वक्त साझा करते हुए उनकी भूख मिटाने की कोशिशें कीं ।
        ➖   ➖   ➖   ➖   ➖
देश दुनिया को खबरों के लिए गूगल पर जाएँ 
लाॅग इन करें : - tarkeshwartimes.page 
सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए 
मो. न. : - 9450557628


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बस्ती के पूर्व सीएमओ ने गंगा में लगाई छलांग

लॉक डाउन पूरी तरह खत्म

बस्ती जिले में 35 नये डॉ. तैनात