IPS अमिताभ गुप्ता की कहानी , जिनकी चिट्ठी लेकर घूम रहा था वधावन परिवार

तारकेश्वर टाईम्स (हि.दै.)
उत्तर प्रदेश में जन्मे अमिताभ गुप्ता का चयन 1992 में भारतीय पुलिस सेवा में हुआ था। अपनी बेबाक छवि के लिए डिपार्टमेंट में मशहूर अमिताभ गुप्ता एक ऐसे अफसर के रूप में जाने जाते हैं, जिनके दोस्त हर राजनीतिक पार्टी के लोग हैं । सीएम उद्धव ठाकरे की अनुमति के बाद गृहमंत्री ने जांच के आदेश दे दिये हैं ।            (बृजवासी शुक्ल)
 महाराष्ट्र में डीएफएचएल (DFHL) के प्रमोटर कपिल और धीरज वधावन जिन आईपीएस अमिताभ गुप्ता के लेटर हेड के सहारे लॉकडाउन के बीच छुट्टी मनाने निकले थे, उन्हें कंपलसरी लीव पर भेज दिया गया है। 
अपर पुलिस महानिदेशक रैंक के अधिकारी अमिताभ गुप्ता के खिलाफ विभागीय जांच के आदेश दिए हैं और सरकार अब ये कह रही है कि जांच रिपोर्ट आने के बाद इनपर सख्त कार्रवाई की जाएगी। अमिताभ गुप्ता वही आईपीएस अधिकारी हैं, जिन्होंने अभिनेता शाइनी अहूजा को नौकरानी के साथ रेप केस में गिरफ्तार किया था।
एडीजी रैंक के अफसर
अमिताभ गुप्ता को राज्य के उन तेजतर्रार आईपीएस अधिकारियों के रूप में जाना जाता है, जिन्हें उद्धव सरकार में बड़ी जिम्मेदारी मिली हुई है । अमिताभ गुप्ता एडीजी रैंक के अफसर हैं , और वह उद्दव ठाकरे सरकार में प्रमुख सचिव गृह के पद पर काम कर रहे हैं।
मूल रूप से यूपी के निवासी
अमिताभ गुप्ता मूल रूप से उत्तर प्रदेश के रहने वाले हैं और वह 1992 बैच के आईएएस अफसर हैं। इलेक्ट्रिकल इंजिनियरिंग में बी.टेक करने वाले अमिताभ गुप्ता बांद्रा में वधावन परिवार के पड़ोस में रहते हैं और यहीं से उनकी पहचान कपिल वधावन और नीरज वधावन से हुई।
अमिताभ वधावन को महाराष्ट्र के रसूखदार अफसरों में गिना जाता है । वधावन पुलिस विभाग के बीच एक ऐक्टिव ऑफिसर के रूप में जाने जाते हैं।   


इक्यावन साल के अमिताभ गुप्ता फिलहाल सरकार और पुलिस डिपार्टमेंट के बीच समन्वय के लिए महाराष्ट्र सरकार के गृह विभाग में काम कर रहे हैं वहीं इस विवाद में नाम आने के बाद अब उनके खिलाफ जांच शुरू करा दी गई है। बताया जा रहा है कि वधावन परिवार जिस पत्र के सहारे अपनी पिकनिक के लिए निकला था, उसे अमिताभ की ओर से ही उन्हें दिया गया था।
गृहमंत्री ने दी कार्रवाई की जानकारी
विवाद शुरू होने के बाद गृह मंत्री अनिल देशमुख ने बताया कि वधावन परिवार ने अनुमति का एक पत्र दिखाया था जो प्रमुख सचिव अमिताभ गुप्ता की ओर से जारी किया गया था। उनके खिलाफ तत्काल कार्रवाई करते हुए उन्हें कंपलसरी लीव पर भेज दिया गया है। इसके अलावा उनके खिलाफ जांच कमिटी गठित की गई है। जांच रिपोर्ट आने के बाद उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
        ➖   ➖   ➖   ➖   ➖
देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएँ 
लाॅग इन करें : - tarkeshwartimes.page 
सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए 
मो. न. : - 9450557628


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

लखनऊ में सैकड़ों अरब के कैलिफोर्नियम सहित 8 गिरफ्तार, 3 बस्ती के

समायोजन न हुआ तो विधानसभा पर सामूहिक आत्महत्या करेंगे कोरोना योद्धा

बस्ती पंचायत चुनाव मतगणना : अबतक घोषित परिणाम