गोरखपुर : तीन दिन में दो कोरोना मरीज

तारकेश्वर टाईम्स (हि.दै.)


गोरखपुर (उ.प्र.) । तीन दिन के भीतर गोरखपुर में कोरोना का दूसरा मामला मिला है। दिल्ली से गोरखपुर आए एक युवक के कोरोनाटे मिलने के बाद अब दिल्ली से आई युवती में कोरोना संक्रमण पाया गया है। महराजगंज जिले में भी कोरोना का एक मरीज पाया गया है।    



भैसा रानी, ​​बांसगांव निवासी एक युवती कोरोना पॉजिटिव मिला है। जिले में कोरोना पॉजिटिव की संख्या अब दो हो गई है। पहला कोरोना पॉजिटिव व्यक्ति हाटा बुजुर्ग, उरूवा का है। यह तीन दिन पहले दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल से आया था।
बुधवार को आई पॉजिटिव रिपोर्ट संगीता की है। यह युवती भी दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल से ही आयी है। वहाँ युवती के पिता चित्रकूट भर्ती थे, उन्हें लीवर में संक्रमण है, इसकी वजह से हाथ-पैरों में सूजन है। अस्पताल से उन्होंने 23 हजार रुपये में एम्बुलेंस तय कर अपने गांव पहुंचे थे। ग्राम प्रधान तत्काल उसे स्वास्थ्य केंद्र बांसगांव ले गये, वहां से जिला अस्पताल पहुंचे थे। उनके साथ उनकी पत्नी, संगीता सहित दो बेटियां व पोता था। उन्हें जिला अस्पताल के गेट पर ही एम्बुलेंस छोड़कर चली गयी थी। एमरजेंसी में वे पहुंचे तो हड़कंप मच गया। प्राथमिक जांच के बाद उन्हें टीबी अस्पताल में  क्वॉरंटाइन कराकर उनका नमूना जांच के लिए भेजा गया था। सीएमओ ने संगीता की रिपोर्ट पॉजिटिव आने की पुष्टि की है।      



जमातियों के पूरे देश में फैलने के बाद भी गोरखपुर के ग्रीन जोन पर कोरोना ग्रहण नहीं लग पाया था। लेकिन दिल्‍ली के सफदरजंग ने दो गाेरखपुरियों के जरिये यह संक्रामक रोग इस शहर में भी भेज दिया। दोनों संक्रमित एंबुलेंस से आए और गोरखपुर को ग्रीन जोन से बाहर कर दिया। मंडल में महराजगंज में छह जमा‍ती मिले थे। कुछ ही दिन बाद महराजगंज संक्रमण मुक्‍त हो गया।    



गोरखपुर को कोरोना छू भी नहीं पाया था। लेकिन दिल्‍ली ने महराजगंज काे फिर संक्रमित करते गोरखपुर के ग्रीन जोन का लेबल भी छीन लिया है। गोरखपुर में दो कोरोना पॉजिटिव मिल चुके हैं। एक हाटा बुजुर्ग, उरुवा के व्‍यक्ति हैं तो दूसरी भैंसा रानी, बांसगांव की महिला। अब दोनों का इलाज मेडिकल कॉलेज में चल रहा है। महिला के पिता की तबीयत खराब थी, लेकिन उनकी रिपाेर्ट निगेटिव आई है और महिला स्‍वस्‍थ थी तो कोरोना पॉजिटिव पाई गई है। कोविड-19 टीम भैंसा रानी के लिए रवाना हो गई है। महिला व उसके परिवार के लोग स्‍वास्‍थ्‍य केंद्र, बांसगांव भी गए थे। गांव के दो लाेग भी उनके संपर्क में आए थे। इसलिए टीम पूरे गांव को सुरक्षित करने के लिए जरूरी कदम उठाएगी। महिला का परिवार जिला अस्‍पताल में कहां-कहां गया था, इसकी पूरी जानकारी अभी नहीं हो पाई है। उसकी जांच करने वाले डा. प्रशांत कुमार व डाॅ: राजेश कुमार की तो पहचान हो चुकी है। शेष की तलाश की जा रही है कि उस दिन इमरजेंसी में किन-किन लोगों की ड्यूटी थी।
         ➖   ➖   ➖   ➖   ➖
देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएँ 
लॉग इन करें : - tarkeshwartimes.page
सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए 
मो. न. : - 9450557628


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

लखनऊ में सैकड़ों अरब के कैलिफोर्नियम सहित 8 गिरफ्तार, 3 बस्ती के

समायोजन न हुआ तो विधानसभा पर सामूहिक आत्महत्या करेंगे कोरोना योद्धा

बस्ती पंचायत चुनाव मतगणना : अबतक घोषित परिणाम