वन्य जीवों को गोद लेकर करें संरक्षण

तारकेश्वर टाईम्स (हि.दै.)


सोनौली । वन्य जीवन या वाइल्ड लाइफ कहीं न कहीं मानव जीवन, पर्यावरण से संबंधित हैं। अगर वन्य जीवन प्रभावित होता है तो सीधा असर पर्यावरण पर पड़ता है और पर्यावरण प्रभावित होगा तो उसका असर मानव जीवन व मानव स्वास्थ्य पर होगा। इसलिए वन्य जीवो को गोद लें तभी उनका संरक्षण हो सकता है।
उक्त बातें सोनौली सन्यास आश्रम के महंत स्वामी अखिलेश्वरानंद सरस्वती महाराज ने कहां कि वन्य जीव के बारे में सभी जागरूक रहें। और वन्य जीवों को संरक्षित करने के लिए हम सभी को मिलकर प्रयास करना चहिए।
उन्होने कहा कि विश्व वन्य जीव प्राणी दिवस मनाये के बजाय सरकार को वन्य जीव के संरक्षण की ओर ध्यान देना चाहिए। लाखों रूपये बैनर, होर्डिंग व पोस्टर इत्यादि पर खर्च करने के अपेक्षा यदि जो स्वयसेवी संगठन, राज्य एवं केन्द्र सरकार मिलकर जीव के संरक्षण के प्रति गम्भीर हो तो यह एक सार्थक प्रयास होगा।
जब से सृष्टि की रचना हुई आज तक बहुत से जीव लुप्त होते जा रहे है । कुछ बचे भी हैं तो उनकी संख्या न के बराबर है। जैसे- बाघों की संख्या 1411, भारतीय हाथी 26 हजार हैं और ऐशियाई शेर मात्र 411, एक सिंग ऐशियाई वाला गेण्डा 2100 है तो यदि इस प्रकार से इनका दोहन होता रहा, इनके खाल व तमाम अंगों का तस्करी होता रहा तो एक दिन ऐसा समय आयेगा यह जो है बिलकुल लुप्त हो जायेगें और हम सिर्फ तस्बीरों में इनको देखेंगे।
           ➖   ➖   ➖   ➖   ➖
देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएँ 
लाॅग इन करें : - tarkeshwartimes.page 
सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए
मो0 न0 : - 9450557628


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बस्ती : दवा व्यवसाई की पत्नी का अपहरण

अयोध्या : नहाते समय पत्नी को किस करने पर पति की पिटाई

बस्ती : पत्नी और प्रेमी ने बेटी के सामने पिता को काटकर मार डाला, बोरे में भरकर छिपाई लाश