श्रमिकों पर केमिकल छिड़काव : एक दूसरे पर झाड़ा पल्ला

तारकेश्वर टाईम्स (हि.दै.)


बरेली । सेटेलाइट बसअडडे पर मजदूरों, गरीब महिलाओं और बच्चों पर सोडियम हाइड्रोक्लोराइड से छिड़काव पर देश भर में वीडियो वायरल होने और हंगामा के बाद नगर निगम और फायर ब्रिगेड विभाग एक दूसरे पर पल्ला झाड़ रहे हैं। नगर स्वास्थ्य अधिकारी कह रहे हैं कि छिड़काव हमारे चार्ट में नहीं है। उन्होंने मजदूरों पर केमिकल बारिश करने का ठीकरा फायर ब्रिगेड पर फोड़ा है , तो फायर ब्रिगेड का कहना है कि हमारे वाहन लिए गए हैं। छिड़काव नगर निगम करा रहा है।    



सीएफओ चन्द्र मोहन शर्मा का कहना है कि सेनीटाइज नगर निगम की देखरेख में किया जा रहा है। फायर ब्रिगेड के पास वाहन हैं जिनसे फॉग बनाया जाता है। पिछले पांच छह दिनों से गाड़ियां सुबह 11 बजे से शाम के पांच बजे तक फॉग कर रही हैं। सोडियम हाइड्रो क्लोराइड केमिकल मिलाकर गाड़ियों में डाला जाता है। फायर ब्रिगेड व नगर निगम की टीम मिलकर सेनीटाइज कर रही है।
रविवार को सेटेलाइट पर भी सेनीटाइज किया गया। वहां लोगों की काफी संख्या में भीड़ इकट्ठी थी। उन्होंने कहना है कि केमिकल होने के कारण लोगों पर डालने के लिए मना किया गया है। उन्होंने माना कि आंख के सीधे संपर्क में आते ही नुकसान होगा। 
केमिकल डालने का वीडियो सोशल मीडिया से मिला है। अधिकारियों ने रिपोर्ट मांगी है। मैं जांच कर रहा हूं। प्रथम दृष्टया निकला है कि सेटेलाइट पर सेनीटाइज किया जा रहा था। वहां आसपास में फॉगिंग चल रही थी। वहां बस के इंतजार में लोग आकर बैठ गये थे। उन्होंने कहा कि टीम फॉग कर रही थी। उस दौरान लोगों के ऊपर फॉग आया है लेकिन सीधा उन पर नहीं किया गया। जांच पूरी करने के बाद ही कुछ बता पायेंगे।
नगर निगम के नगर स्वास्थ्य अधिकारी संजीव प्रधान का कहना है कि नगर निगम के चार्ट में छिड़काव नहीं है। फायर ब्रिगेड की टीम ने छिड़काव किया है। इससे नगर निगम का कोई लेना देना नहीं है। 
डीएम नीतीश कुमार ने बताया कि वायरल वीडियो की पड़ताल की गई। प्रभावित लोगों का सीएमओ के निर्देशन में उपचार किया जा रहा है। बरेली नगर निगम एवं फायर ब्रिगेड की टीम को बसों को सेनीटाइज़ करने के निर्देश थे। अति सक्रियता की वजह से उन्होंने ऐसा कर दिया। सम्बंधित के विरुद्ध कार्रवाई के निर्देश दिए गए हैं। स्प्रे करने का तरीका गलत था। मामले की जांच कराई जा रही है। लापरवाही बरतने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। 
दिल्ली और एनसीआर से निकाले गए मजदूर रविवार को अपने परिवार के साथ बरेली सेटेलाइट बस अड्डे पर पहुंचे। अपने घरों को जाने की आस में बस के इंतजार में बैठे थे। उनके ऊपर सेटेलाइट बस अड्डे पर हाइड्रोक्लोराइड की बारिश कर दी गई। कोरोना वायरस से बचाने के लिए नगर निगम की टीम ने फायर ब्रिगेड के साथ मिलकर मजदूरों व परिवार वालों को सड़क पर बैठाया। इसके बाद उन पर केमिकल का स्प्रे कर दिया था, जिससे कई लोगों की आंखें लाल हो गई थी। उनमें जलन होने लगी थी।
          ➖   ➖   ➖   ➖   ➖
देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएँ 
लाॅग इन करें : - tarkeshwartimes.page
सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए 
मो. न. : - 9450557628


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बस्ती के पूर्व सीएमओ ने गंगा में लगाई छलांग

लॉक डाउन पूरी तरह खत्म

बस्ती जिले में 35 नये डॉ. तैनात