महिलाओं को समर्पित रहा आरोग्य मेला

तारकेश्वर टाईम्स (हि.दै.)


बस्ती  (उ.प्र.) । अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के दिन आयोजित जन आरोग्य स्वास्थ्य मेला महिलाओं को समर्पित रहा। मेले का उदघाटना स्वास्थ्य विभाग की वरिष्ठ महिला अधिकारी व कर्मियों ने किया। आईसीडीएस व स्वास्थ्य विभाग ने मेला स्थल पर स्टॉल लगाए थे। महिलाओं के लिए संचालित सरकारी योजनाओं की जानकारी स्टॉल के माध्यम से दी गई। 
नगरीय पीएचसी नरहरिया पर आयोजित स्वास्थ्य मेले का उदघाटन मेडिकल कॉलेज बस्ती की वरिष्ठ स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ. दुर्गा ने किया। नगरीय पीएचसी बरदहिया में आयोजित स्वास्थ्य मेले का उदघाटन एएनएम उर्मिला दूबे ने किया। शहर की मलिन बस्ती में आयोजित दोनों पीएचसी पर महिलाओं की संख्या सर्वाधिक दिखी। 



महिला चिकित्सक द्वारा गर्भवती महिलाओं के स्वास्थ्य परीक्षण के साथ ही उनकी आवश्यक जांच कराने को परामर्श दिया जा रहा था। नरहरिया पीएचसी पर जांच कर रही डॉ. दुर्गा व डॉ. कृष्णा निरंजन ने गर्भवती को समय-समय पर आवश्यक जांच के साथ ही उन्हें संस्थागत प्रसव के फायदे के बारे में बताया। इसी के साथ उन्हें यह भी बताया कि गर्भवती व बच्चों का टीकाकरण पूरी तरह निशुल्क सरकारी अस्पताल में उपलब्ध है। इसके लग जाने के बाद कई बीमारियों से बचा जा सकता है। पीएचसी बरदहिया में डॉ. कल्पना व स्टॉफ नर्स पूनम यादव ने मेले की कमान संभाल रखी थी।
आईसीडीएस की शहरी क्षेत्र की सीडीपीओ कामिनी कुमारी व सुपरवाईजर कामिनी श्रीवास्तव की देखरेख में दोनों नगरीय पीएचसी पर विभागीय योजनाओं की जानकारी देने के लिए स्टॉल लगाया गया था। उन्होंने बताया कि विभाग द्वारा नौ तरह का पोषाहार वितरित किया जा रहा है। पोषाहार की मदद से विभिन्न प्रकार के पौष्टिक व्यंजन भी बनाए जा सकते हैं। स्टॉल पर यही व्यंजन बनाकर प्रदर्शित किया गया है। इसके अलावा सीजनल फलों व उनसे होने वाले फायदों के बारे में बताया जा रहा है। इनका सेवन कर गर्भवती खुद भी स्वस्थ रह सकती हैं तथा उनके बच्चे भी कुपोषण का शिकार होने से बचे रहेंगे। 
हेल्थ कैम्प में हुई ब्रेस्ट व सर्वाइकल कैंसर की जांच
भारतीय स्त्री रोग विशेषज्ञ संघ ने महिला दिवस पर पुलिस लाइन में हेल्थ कैम्प आयोजित किया। कैम्प में महिला पुलिस कर्मियों व पुलिस कर्मियों के परिवार की महिलाओं की ब्रेस्ट व सर्वाकल कैंसर की जांच की गई। 
संस्था की अध्यक्ष रि. कैप्टन डॉ. पीएल मिश्रा, सचिव डॉ. ऊषा सिंह व संयोजक डॉ. सीमा त्रिपाठी, डॉ. आभा सिंह, डॉ. प्रमिला सिंह, डॉ. नीलम सिंह व डॉ. अनीता ने कैम्प में आई महिलाओं का स्वास्थ्य परीक्षण किया। 
डॉ. सीमा त्रिपाठी ने बताया कि 20 महिलाओं ने कैंसर स्क्रीनिंग कराई। 11 की सर्वाइकल कैंसर का पता लगाने के लिए जांच कराई गई। 12 महिलाओं में स्तन कैंसर के लक्षण को देखते हुए इलाज का परामर्श दिया। बताया कि अगर शुरूआती समय में महिलाओं में होने वाले इस कैंसर का पता लग जाता है तो इलाज आसान होता है। इस कैम्प का उद्देश्य महिलाओं को इस समस्या के प्रति जागरूक भी करना है। उन्होंने बताया कि 40 वर्ष से ऊपर की महिलाओं में सर्वाइकल कैंसर का खतरा होता है। यह एचपी वॉयरस के कारण होता है। इससे बचाव के लिए वैक्सीन उपलब्ध है। किशोरावस्था में इसे लगवाकर इस बीमारी से बचा जा सकता है। ब्रेस्ट कैंसर की जांच 30 वर्ष से ऊपर की महिलाएं खुद भी कर सकती हैं। किसी गॉठ की आशंका पर तत्काल चिकित्सक को दिखाएं। 45 वर्ष से ऊपर की महिलाएं दो साल में एक बार मैमोग्राम जांच जरूर कराएं। इन सावधानियों से 95 प्रतिशत मौत को कम किया जा सकता है। 
        ➖   ➖   ➖   ➖   ➖
देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएँ 
लाॅग इन करें : - tarkeshwartimes.page 
सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए 
मो0 न0 : - 9450557628


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बस्ती : दवा व्यवसाई की पत्नी का अपहरण

अयोध्या : नहाते समय पत्नी को किस करने पर पति की पिटाई

बस्ती : पत्नी और प्रेमी ने बेटी के सामने पिता को काटकर मार डाला, बोरे में भरकर छिपाई लाश