एडीएम पर जानलेवा हमला

तारकेश्वर टाईम्स (हि.दै.)


         (प्रशान्त द्विवेदी)
लखनऊ । पार्क में टहलते वक्त गाजियाबाद के अपर जिलाधिकारी (भू-अर्जन) मदन सिंह गर्ब्याल पर सेना से बर्खास्त फौजी ने क्रिकेट बैट से हमला कर दिया। घटना कल रविवार शाम करीब सात बजे की है, जब एडीएम आम दिनों की तरह राजनगर सेक्टर -14 के पार्क में टहल रहे थे। उनके सिर, आंख, चेहरे व कंधे पर चोटें आई हैं।
लोगों के सहयोग से उन्हें नेहरू नगर स्थित अस्पताल में भर्ती कराया गया। चिकित्सकों का कहना है कि कोई खतरे की बात नहीं है लेकिन चोटें गहरी हैं, इसलिए उन्हें आईसीयू में रखा गया है। उधर, आरोपी को पकड़ लिया गया है, जिसकी पहचान जसबीर सिंह पुत्र बलवान सिंह के तौर पर हुई है, जो मूलरूप से खरक रामजी गांव, थाना सदर, जींद, हरियाणा का रहने वाला है। वह वर्तमान में गाजियाबाद के रजापुर गांव में रह रहा था।



 डीएम अजय शंकर पांडेय का कहना है कि जिस व्यक्ति ने हमला किया है, उसका सेना से 1995 में कोर्ट मार्शल हो चुका है। उसने गाजियाबाद के आरडीसी स्थित गौड़ मॉल में बाउंसर के रूप में ज्वाइन किया था, जहां से उसे रविवार को व्यवहार ठीक न होने पर निकाल दिया गया।
प्रारंभिक जानकारी के मुताबिक, उच्च अधिकारियों के आदेशों का पालन न करने और दुर्व्यवहार के चलते ही सेना से उसका कोर्ट मार्शल हुआ था। इससे पता चलता है कि वह पहले से उग्र प्रवृति का है। कविनगर थाना पुलिस उससे पूछताछ कर रही है।
एसडीएम प्रशांत तिवारी का कहना है कि एडीएम शाम को पार्क में टहलने गए थे। आरोपी पार्क के पैदल पथ पर बैट लेकर चल रहा था और बीच-बीच में बैट को घुमाने लगता था, जिस पर कुछ लोगों ने टोका-टाकी भी की। टहलते हुए एडीएम भी वहां पर पहुंचे तो उन्होंने कहा कि इस तरह से किसी को लग जाएगा। फिर दोबारा से घूमते हुए एडीएम आए तो देखा कि वह फिर से बैट घूमा रहा था। इस पर उन्होंने कहा कि अगर पार्क के गार्ड हो तो गार्ड की तरह रहो। बस इतना कहने पर ही उसने बैट से हमला कर दिया।
बैट से हमला करते ही एडीएम गिर गए और उन्हें खून निकलने लगा। इस बीच पार्क में टल रहे एक एक्सईएन ने उन्हें पहचान लिया। एक्सईएन एडीएम को गाड़ी में बैठाकर अस्पताल की तरफ दौड़े। उधर, पार्क में टहल रहे अन्य अधिकारियों के परिजनों ने सिटी मजिस्ट्रेट शिव प्रताप शुक्ला और एसडीएम खालिद अंजुम के आवास पर जानकारी दी।



इसके बाद दोनों ही अधिकारियों के आवास पर तैनात पुलिसकर्मी पार्क की तरफ भागे। वहां पर जाकर देखा तो पार्क में टहल रहे बाकी लोगों ने आरोपी को पकड़ रखा था, जिसे पुलिस को सौंप दिया। घायल एडीएम को सबसे पहले एक्सईएन ने कविनगर स्थित सर्वोदय अस्पताल में भर्ती कराया। जहां पर प्राथमिक उपचार के बाद प्रशासन के अन्य अधिकारी रेफर कराकर नेहरू नगर यशोदा अस्पताल लेकर पहुंचे। शुरूआत में मदद करने वाले एक्सईएन किस विभाग के थे , यह अभी तक प्रशासन को पता नहीं चल पाया है।
 घटना की सूचना पर डीएम व एसएसपी भी अस्पताल दौड़े। उन्होंने यशोदा अस्पताल पहुंच कर चिकित्सकों से एडीएम के स्वास्थ्य की जानकारी ली। उधर, अन्य अधिकारी भी रात तक हालचाल जानने के लिए अस्पताल पहुंचते रहे।
       ➖    ➖   ➖   ➖   ➖
देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएँ 
लाॅग इन करें : - tarkeshwartimes.page 
सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए 
मो0 न0 : - 9450557628


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

लखनऊ में सैकड़ों अरब के कैलिफोर्नियम सहित 8 गिरफ्तार, 3 बस्ती के

समायोजन न हुआ तो विधानसभा पर सामूहिक आत्महत्या करेंगे कोरोना योद्धा

बस्ती पंचायत चुनाव मतगणना : अबतक घोषित परिणाम