दस्तक कार्यक्रम में शामिल हुआ कोरोना : बचाव के उपाय - सीएमओ

तारकेश्वर टाईम्स (हि.दै.)


बस्ती  (उ.प्र.) ।  दस्तक कार्यक्रम में कोरोना वॉयरस के प्रति जागरूकता पैदा करने की मुहिम को भी शामिल किया गया है। शासन ने इसके लिए सभी सीएमओ को निर्देशित किया है। आशा घर-घर जाकर लोगों को कोरोना के लक्षण व उससे बचाव के तरीके बताएंगी। 16 मार्च से शुरू हो रहे दस्तक कार्यक्रम में संचारी रोग की रोकथाम की जानकारी दी जानी है। ब्लॉकों पर कोरोना वॉयरस से संबंधित जानकारी देने के लिए आशाओं की कार्यशाला आयोजित की जाएगी।
एसीएमओ डॉ. फकरेयार हुसैन ने बताया कि कोरोना को लेकर प्रदेश सरकार संवेदनशील है। स्वास्थ्य विभाग प्रदेश में इसका फैलाव रोकने के लिए हर स्तर पर प्रयासरत है। इसी के तहत अब दस्तक कार्यक्रम में कोरोना वॉयरस के प्रति आशाओं को जागरूक करने का भी कार्यक्रम शामिल किया गया है। गुरुवार को सचिव स्वास्थ्य की वीडियो कॉफ्रेसिंग में इसके लिए दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं।


उन्होंने बताया कि आशा घरों पर दस्तक देकर संचारी रोग से संबंधित जानकारी देने के साथ ही वह यह कोरोना के लक्षण व उसके फैलाव को रोकने के बचाव के तरीके बताएगी। लोगों को बताया जाएगा कि अहतियात ही इसकी रोकथाम का सबसे अच्छा उपाय है। 


विदेश से आने वालों पर भी आशा रखेंगी नजर
गांव में विदेश से आने वाले लोगों पर भी आशा नजर रखेंगी। अगर कोई गांव में आता है तो इसकी सूचना वह ब्लॉक/जिले पर देंगी। इसी के साथ उस व्यक्ति को 14 दिनों तक आईसोलेशन में रहने की सलाह देगी। उसके स्वास्थ्य पर भी नजर रखेंगी। इससे जिले में दूसरे देश से आने वाले लोगों की शत-प्रतिशत मॉनीटरिंग हो सकेगी। 
     कोरोना वॉयरस से सुरक्षा के उपाय
                क्या करें
- व्यक्तिगत स्वच्छता पर ध्यान दें
- छींकने व खासने के दौरान मुंह पर कपड़ा रखें
- गंदा होने पर हाथों को साबुन व बहते पानी से धोएं
- हाथों की सफाई के लिए अल्कोहल आधारित हैंडवॉश, साबुन या सैनेटाइजर का प्रयोग करें
- प्रयोग के तुरंत बाद टिशू पेपर को बंद डिब्बे में फेंके
- अस्वस्थ्य होने पर तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें
- फ्लू जैसे लक्षण होने पर ही मॉस्क का प्रयोग करें, अनावश्यक रूप से नहीं
             क्या न करें-
- खांसी, बुखार होने पर किसी के संपर्क में न रहें/ सर्दी, खांसी या फ्लू जैसे लक्षण वाले लोगों से संपर्क न बनाएं। 
- सार्वजनिक स्थानों पर न थूकें।
- जीवित पशुओं के संपर्क या कच्चे/अधपके मांस, सीफूड अथवा अंडों के सेवन से बचें।
- खेतों में अनावश्यक न घूमें, पशु बाजार, जानवरों के वध स्थल पर जाने से बचें। 
- भीड़-भाड़ वाले स्थानों व कार्यक्रमों में जाने से बचें। 
- शारीरिक रूप से अस्वस्थ्य लोगों से हाथ मिलाने से बचें।
- बीमारी का बचाव व इलाज संभव है। भ्रम से दूर रहे तथा डर न फैलाएं।
- चिकित्सक की सलाह के बिना दवा का सेवन न करें
- पर्यटकों व पर्यटन स्थलों पर जाने से बचें
दस्तक कार्यक्रम में संचारी रोग के साथ ही कोरोना वॉयरस के प्रति भी लोगों को जागरूक किया जाएगा। इसके लिए आशा कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षित किया जा रहा है। घर-घर जाकर आशा लोगों को कोरोना वॉयरस के लक्षण व उससे बचाव के तरीके बताएंगी।
                - डॉ. जेपी त्रिपाठी, सीएमओ, बस्ती
        ➖   ➖   ➖   ➖   ➖
देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएँ 
लाॅग इन करें : - tarkeshwartimes.page 
सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए 
मो0 न0 : - 9450557628


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बस्ती : दवा व्यवसाई की पत्नी का अपहरण

अयोध्या : नहाते समय पत्नी को किस करने पर पति की पिटाई

बस्ती : पत्नी और प्रेमी ने बेटी के सामने पिता को काटकर मार डाला, बोरे में भरकर छिपाई लाश