अब चीन में हंता वायरस

तारकेश्वर टाईम्स (हि.दै.)


 दुनियाभर में कोरोना वायरस से ख़ौफ़ के बीच हंता वायरस ने भी लोगों की चिंताएं बढ़ा दी हैं । चीन में हंता वायरस की वजह से 23 मार्च को एक शख्स की मौत हो गयी है । ख़बर के मुताबिक़ हंता वायरस से संक्रमित शख्स जिस बस में सवार था, उसमें सवार 32 लोगों की जांच की गई है । इस ख़बर के सामने आते ही ट्विटर पर हंता वायरस (HantaVirus) टॉप ट्रेंड करने लगा ।
 कोरोना से जारी जंग के बीच हंता को लेकर लोग अपनी प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं और डर ज़ाहिर कर रहे हैं । लेकिन सबसे ज़रूरी सवाल ये है कि आख़िर हंता वायरस फैलता कैसे है ?
          हंता वायरस के लक्षण
सीडीसी की रिपोर्ट के मुताबिक़ हंता वायरस चूहों से फैलता है । अगर कोई इंसान चूहों के मल - मूत्र या लार को छूने के बाद अपने चेहरे पर हाथ लगाता है तो हंता संक्रमित होने की आशंका बढ़ जाती है । हालांकि आमतौर पर हंता वायरस एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में नहीं जाता है । हंता के संक्रमण का पता लगने में एक से आठ हफ्तों का वक़्त लग सकता है । हंता वायरस से अगर कोई व्यक्ति संक्रमित है तो उसे बुखार, दर्द, सर्दी, बदन दर्द, उल्टी जैसी दिक़्क़तें हो सकती हैं । हंता संक्रमित व्यक्ति की हालत बिगड़ने पर फेफड़ों में पानी भरने और सांस लेने में तकलीफ़ भी हो सकती है ।
जनवरी 2019 में हंता से संक्रमित नौ लोगों की पेटागोनिया में मौत हो गई थी । इसके बाद पर्यटकों को आगाह भी किया गया था । उस समय के एक अनुमान के मुताबिक़ हंता वायरस से संक्रमित लोगों के 60 मामले सामने आए थे, जिनमें 50 को क्वारंटीन रखा गया था । सीडीसी की मानें तो हंता वायरस में मृत्युदर 38 फ़ीसदी होती है और इस बीमारी का कोई 'स्पेसिफिक ट्रीटमेंट' नहीं है ।
          ➖   ➖   ➖   ➖   ➖
देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएँ 
लाॅग इन करें : - tarkeshwartimes.page 
सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए 
मो0 न0 : - 9450557628


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

लखनऊ में सैकड़ों अरब के कैलिफोर्नियम सहित 8 गिरफ्तार, 3 बस्ती के

समायोजन न हुआ तो विधानसभा पर सामूहिक आत्महत्या करेंगे कोरोना योद्धा

बस्ती : ब्लॉक रोड पर मामूली विवाद में मारपीट, युवक की मौत