पर्यटन केन्द्र बनेगा गीता वाटिका


आध्यात्मिक स्थलों के जरिये पर्यटकों को लुभाने के क्रम में पर्यटन विभाग भाईजी हनुमान प्रसाद पोद्दार की तपस्थली गीता वाटिका और कायस्थ समाज के चित्रगुप्त मंदिर, बक्शीपुर को पर्यटन केंद्र के रूप में विकसित करने की तैयारी कर रहा है। इसके लिए विभाग ने सवा चार करोड़ रुपये का प्रस्ताव तैयार कराया है।



इसमें 2.70 करोड़ रुपये गीता वाटिका तो 1.60 करोड़ रुपये चित्रगुप्त मंदिर को सजाने-संवारने और उसे पर्यटकों के लिहाज से सुविधायुक्त बनाने के लिए खर्च किए जाएंगे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इन दोनों स्थलों को पर्यटन केंद्र के रूप में विकसित करने के लिए विशेष रूप से निर्देश दिया है। शासन की ओर से आई चिट्ठी के मुताबिक पर्यटन विभाग ने लोक निर्माण विभाग (पीडब्लूडी) से प्रस्ताव तैयार कराया है। इसे शासन को भेजा जाएगा। वित्तीय वर्ष पूरा होने से पहले ही इस प्रस्ताव को स्वीकृत कर शासनादेश जारी करने की शासन की योजना है।




प्रस्तावित धनराशि से गीता वाटिका में फव्वारे लगाएं जाएंगे, पेयजल ब्लॉक बनाया जाएगा। इसके अलावा एक विशाल प्रवचन सभागार का निर्माण कराया जाएगा। चित्रगुप्त मंदिर के भवन के जीर्णोद्धार की योजना है। मंदिर की सुंदरता बढ़ाने के लिए वहां भी फव्वारे लगाए जाएंगे। इसके अलावा मंदिर में हाई मास्ट लाइट व नए फर्नीचर लगाए जाएंगे। म्युरल और पेंटिंग के लिए भी धनराशि का प्रावधान किया गया है। मुख्यमंत्री के निर्देश पर गीता वाटिका और चित्रगुप्त मंदिर के सुंदरीकरण के लिए इस्टीमेट और प्रस्ताव तैयार करा लिया गया है। इसे शासन को भेज दिया जाएगा। शासनादेश जारी


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

लखनऊ में सैकड़ों अरब के कैलिफोर्नियम सहित 8 गिरफ्तार, 3 बस्ती के

समायोजन न हुआ तो विधानसभा पर सामूहिक आत्महत्या करेंगे कोरोना योद्धा

बस्ती पंचायत चुनाव मतगणना : अबतक घोषित परिणाम