निर्भया केस : फिर पेंच फंसाने की कोशिश

तारकेश्वर टाईम्स (हि.दै.)


शुक्रवार को चौथे दोषी पवन कुमार गुप्ता ने सुप्रीम कोर्ट में भूल सुधार याचिका दायर की. पवन में अपनी इस याचिका में मौत की सजा को आजीवन कारावास में बदलने की मांग की है



नई दिल्ली । निर्भया गैंगरेप मामले में जैसे-जैसे फांसी की तारीख नजदीक आ रही है, दोषी फांसी से बचने के लिए नए पैंतरे अपना रहे हैं । शुक्रवार को चौथे दोषी पवन कुमार गुप्ता ने सुप्रीम कोर्ट में भूल सुधार याचिका दायर की । पवन ने अपनी इस याचिका में मौत की सजा को आजीवन कारावास में बदलने की मांग की है ।



बता दें कि दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने तीसरी बार नया डेथ वारंट जारी किया था । जिसके मुताबिक चारों दोषियों को तीन मार्च की सुबह तिहाड़ जेल में फांसी दी जानी है । इसे देखते हुए तिहाड़ प्रशासन ने अपनी तैयारियां शुरू कर दी हैं । बताया जाता है कि बीते दिनों दोषियों को परिवार से मिलाने की भी बात कही थी। पवन कुमार गुप्ता के वकील ए पी सिंह ने बताया कि उनके मुवक्किल ने सुधारात्मक याचिका में कहा है कि उसे मौत की सजा नहीं दी जानी चाहिए । पवन चारों मुजरिमों में अकेला है, जिसने अभी तक सुधारात्मक याचिका दायर करने और इसके बाद राष्ट्रपति के पास दया याचिका दायर करने के विकल्प का इस्तेमाल नहीं किया था ।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

लखनऊ में सैकड़ों अरब के कैलिफोर्नियम सहित 8 गिरफ्तार, 3 बस्ती के

समायोजन न हुआ तो विधानसभा पर सामूहिक आत्महत्या करेंगे कोरोना योद्धा

बस्ती पंचायत चुनाव मतगणना : अबतक घोषित परिणाम