लेहड़ा में अवैध कटान तेज

तारकेश्वर टाईम्स (हि.दै.)


महराजगंज (उ0प्र0) । एक तरफ पर्यावरण के सन्तुलन पर भारी संकट मंडरा रहा है तो दूसरी ओर लेहड़ा जंगल पर वन माफियाओं की बुरी नजर पड़ गयी है । माफियाओं द्वारा जितनी तेजी से कटाई की जा रही है, ऐसा लगता है कि गिरोह जंगल का सफाया कर डालेगा । वर्तमान में जंगल में पेड़ो की कटान इतनी तेज हो गयी है कि आने वाले दिनों में पूरा जंगल वीरान हो सकता है।



जानकारी के मुुुताबिक वन अधिकारियों की मिली भगत के चलते लेहड़ा क्षेत्र में धड़ल्ले से हरे बृक्षों की कटान हो रही है।जहां वन अधिकारी चन्द रुपये की लालच में आकर शासनादेश की धज्जियां उड़ाकर शासन की मंशा पर पानी फेर रहे हैं।वहीँ लकड़ी माफिया हरे बृक्षों के कटान से लाखों के वारे न्यारे कर रहे हैं।
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार बता दें इस समय फरेन्दा वन क्षेत्र में हरे बृक्षों का कटान तेजी से चल रहा है।जहां लकड़ी माफिया बृक्षों पर आरी चलवा रहे है। वही वन विभाग के लोग चन्द पैसों के लालच में आंखे मुदे बैठी है।


वन माफिया द्वारा अवैध तरीके से लकड़ी कटान कर क्षेत्रों में पहुंचाई जा रही है।इतना ही नही वन माफिया जंगल से लकड़ी काट कर टैम्पो में लाद कर कस्बे चौराहों पर लकड़ी को जालौनी के रूप में लाकर दिन दहाड़े बेचते हुये देखे जाते है।शिकायत पर कोई उनके खिलाफ कार्यवाही भी नही करता है। इसलिए वन माफिया के हौशले बुलन्द रहते है।वहीँ वन विभाग के नुमाइन्दे सबसे यह कहते नजर आते हैं कि जंगल से कटान अब हमने बन्द करवा दिया।अगर बन्द हो गई है तो आखिर किस के सह पर प्रतिदिन बेशकीमती लकड़ियां काटी जा रहीं हैं।इन्ही के मिली भगत के कारण जंगल वीरान होने के कगार पर पहुँच चुका है।अभी कुछ दिन पूर्व ही भारी मात्रा में जंगल से अवैध तरीके से की गई कटान की लकड़ी बरामद की गई थी।इससे यह साबित होता है कि वन माफिया में अब कोई खौफ नही है इनके मिली भगत से बेखौफ जरूर है।
          ➖   ➖   ➖   ➖   ➖
देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएँ 
लाॅग इन करें : - tarkeshwartimes.page 
सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए 
मो0 न0 : - 9450557628


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

लखनऊ में सैकड़ों अरब के कैलिफोर्नियम सहित 8 गिरफ्तार, 3 बस्ती के

समायोजन न हुआ तो विधानसभा पर सामूहिक आत्महत्या करेंगे कोरोना योद्धा

बस्ती : ब्लॉक रोड पर मामूली विवाद में मारपीट, युवक की मौत