जीएसटी के सहायक आयुक्त पर मुकदमा

नयी दिल्ली। केंद्रीय जांच ब्यूरो ने जीएसटी एवं केंद्रीय उत्पाद विभाग के सहायक आयुक्त दीपक पंडित के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति रखने के सिलसिले में भ्रष्टाचार के आरोपों के तहत मामला दर्ज किया है। पंडित के पास तकरीबन चार करोड़ की संपत्ति है जो उनके ज्ञात आय के स्रोत से 376 फीसदी अधिक है। अधिकारियों ने शुक्रवार को इसकी जानकारी दी।केंद्रीय जांच ब्यूरो की ओर से दायर प्राथमिकी में कहा गया है कि पंडित ने अपने पद का दुरूपयोग किया और वह संपत्ति अर्जित करने के लिए भ्रष्टाचार में लिप्त रहे। पंडित, प्रसिद्ध फिल्मी हस्ती अशोक पंडित के निकट संबंधी हैं। अशोक पंडित ने 2018 में एक ट्वीट कर दीपक को अपना ‘‘छोटा भाई’’ बताया था। जांच एजेंसी ने दीपक पंडित, उनकी पत्नी आरूषि एवं उनके दो बेटों आशुतोष एवं दिव्यांश के खिलाफ मामला दर्ज किया है।



एजेंसी ने बताया कि जांच एजेंसी के अधिकारियों ने पंडित और उनके परिवार के सात ठिकानों पर गुरूवार को छापेमारी की जो देर शाम तक जारी रही। इन ठिकानों में से छह मुंबई में जबकि एक भुवनेश्वर में स्थित है। सीबीआई ने बताया कि पंडित ने 1985 में मुंबई में सीमा शुल्क विभाग में बतौर लिपिक अपने करियर की शुरूआत की थी और 2014 में पदोन्नत होकर सहायक आयुक्त बन गये और वर्तमान में भुवनेश्वर में तैनात हैं। पंडित ने मुंबई में एक जनवरी 2000 से 31 मार्च 2014 तक की तैनाती की 14 साल की अवधि में उन्होंने अपने नाम पर तथा अपने परिवार के नाम पर कथित रूप से चल एवं अचल संपत्ति बनायी थी जब परिवार की कुल आये एक करोड़ पांच लाख रुपये थी। एजेंसी ने कहा कि परिवार ने इस दौरान चार करोड़ 39 लाख रुपये की संपत्ति बनायी और इस अवधि में उनका खर्च 61 लाख 80 हजार था।


सीबीआई के एक अधिकारी ने कहा आय और व्यय के दस्तावेजों की जांच के बाद यह पता चला कि दीपक पंडित ओर उनके परिवार के पास तीन करोड़ 96 लाख रुपये की संपत्तिहै जो उनके आय के ज्ञात स्रोत से 376 फीसदी अधिक है। अधिकारी ने बताया कि तलाशी के दौरान केंद्रीय जांच ब्यूरो को एक करोड़ 82 लाख रुपये मूल्य के सावधि जमा, म्यूचुअल फंड निवेश, मुंबई में छह तथा भुवनेश्वर में एक फ्लैट केदस्तावेज बरामद हुए। उन्होंने बताया कि यह आय से अधिक संपत्ति का मामला है जो प्राथमिकी में दर्ज किया गया है।प्राथमिकी में कहा गया है, ‘‘आरोपी दीपक पंडित के पास आय से अधिक संपत्ति बरामद हुई है। यह तीन करोड़ 96 लाख की है जो पंडित, उसकी पत्नी तथा दो बेटों के नाम है।एजेंसी ने आरोप लगाया कि पंडित की पत्नी आरूषि के पास आय का कोई स्वतंत्र स्रोत नहीं है लेकिन उनके नाम पर अचल संपत्ति है और उन्होंने उसकी बिक्री की है।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

लखनऊ में सैकड़ों अरब के कैलिफोर्नियम सहित 8 गिरफ्तार, 3 बस्ती के

समायोजन न हुआ तो विधानसभा पर सामूहिक आत्महत्या करेंगे कोरोना योद्धा

बस्ती पंचायत चुनाव मतगणना : अबतक घोषित परिणाम