यूपी रोडवेज को राष्ट्रीय उत्कृष्टता पुरस्कार

तारकेश्वर टाईम्स (हि.दै.)


 लखनऊ । उत्तर प्रदेश परिवहन निगम ने उत्कृष्ट सेवाएं देते हुए आज ग्रामीण कनेक्टिविटी को लेकर "राष्ट्रीय सार्वजनिक परिवहन उत्कृष्टता पुरस्कार -2019" प्राप्त किया है। यह पुरस्कार यूपीएसआरटीसी को इकतीस जनवरी 2020 को दिल्ली अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन और सार्वजनिक परिवहन पर प्रदर्शनी - भारत ( आईसीपीटी - 2019 ) में जनरल (सेवानिवृत्त) वीके सिंह , सड़क परिवहन और राजमार्ग राज्य मंत्री , भारत सरकार द्वारा दिया गया ।



 उक्त पुरस्कार में प्रशंसा पत्र , एक मेमेंटो और साढ़े सात लाख पुरस्कार राशि शामिल है । एमडी यूपीएसआरटीसी, अडिशनल एमडी, सीजीएम (ओ), जीएम आईटी, आरएम गाजियाबाद, प्रबंधक आईटी और अन्य अधिकारियों ने माननीय मंत्री द्वारा पुरस्कार प्राप्त किया। यह पुरस्कार एसोसिएशन ऑफ स्टेट रोड ट्रांसपोर्ट अंडरटेकिंग्स (एएसआरटीयू), सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा प्रदान किया जाता है।


  यूपीएसआरटीसी के एमडी. डाॅ. राजशेखर ने बताया कि  द्वारा ग्रामीण कनेक्टिविटी के बारे में अब तक प्राप्त तथ्य और आंकड़े इस प्रकार हैं : - 
  वर्ष 2017 में, 38200 गाँव ऐसे थे जो बस सेवा से नहीं जुड़े थे। प्रदेश सरकार द्वारा प्राथमिकता के आधार पर आगामी 4 वर्षों के समय में सभी असंबद्ध गांवों / मजरों को जोड़ने की घोषणा की गई थी। उन्होंने बताया कि पिछले लगभग 33 महीनों में यूपीएसआरटीसी ने 25000 गांवों को बस सेवा से सफलतापूर्वक जोड़ा है और इन गांवों में कम से कम एक बार कनेक्टिविटी सुनिश्चित की है। डॉ. राजशेखर ने बताया कि यूपीएसआरटीसी की अगले 15 महीनों के दौरान बाकी बचे 13200 गांवों को ग्रामीण कनेक्टिविटी की नई नीति के तहत एकल कनेक्टिविटी से जोड़ने की योजना है । एमडी. ने कहा कि यूपीएसआरटीसी ने मार्च 2021 तक सभी असंबद्ध गांवों को ग्रामीण कनेक्टिविटी की सरकारी प्रतिबद्धता सुनिश्चित करने के लिए अपनी खुद की मौजूदा बसों के बेड़े और नई संविदात्मक बसों का उपयोग किया है ।



डॉ. राजशेखर ने कहा कि यूपीएसआरटीसी ग्रामीण कनेक्टिविटी योजना के तहत बस मार्गों और समय की "जियो टैगिंग" और "जीओ लोकेशन" का कार्य भी कर रहा है, जो अगले 6 महीनों में पूरा हो जाएगा। उन्होंने कहा कि यूपीएसआरटीसी, ग्रामीण कनेक्टिविटी की इस प्रतिबद्धता को पूरा करने में महती योगदान के लिए माननीय मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश का तहे दिल से शुक्रिया अदा करता है। हम इस संबंध में सहयोग और मदद के लिए माननीय परिवहन मंत्री को तहे दिल से धन्यवाद देते हैं। हम माननीय चेयरमैन और प्रधान सचिव का उनके सतत मार्गदर्शन, दिशा-निर्देशन और इसे संभव बनाने के लिए आवश्यक समर्थन के लिए तहे दिल से धन्यवाद करते हैं। यूपीएसआरटीसी पूर्व मंत्री परिवहन, सभी प्रमुख प्रधान सचिव परिवहन और सभी पूर्व एमडी को इसमें उनके योगदान एवं प्रयास की सराहना करता है।
  यूपीएसआरटीसी ने मुख्यालय के (एडिशनल एमडी, वित्त नियंत्रक, मुख्य महा प्रबंधक -ए , मुख्य महाप्रबंधक- ओ, मुख्य महाप्रबंधक-टी, जीएम-आईटी, डिप्टी जीएम गण / एजीएम गण -आईटी) सभी जीएम-ओ, और सभी संबंधित अधिकारी) और हमारे सभी आरएम / एसएम / एआरएम का उनके कठिन परिश्रम एवं प्रतिबद्घता के लिए तहे दिल से आभार और प्रशंशा की है । डॉ. राजशेखर ने इस सम्बन्ध में "अनुबंधित बस ओनर्स एसोसिएशन उत्तर प्रदेश " का उनके योगदान के लिए विशेष धन्यवाद देते हुए सभी को धन्यवाद दिया हैै । 
            -  -  -  -  -  -  -  -  -  -
देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएँ 
लाॅग इन करें : - tarkeshwartimes.page 
सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए 
मो0 न0 : - 9450557628


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

लखनऊ में सैकड़ों अरब के कैलिफोर्नियम सहित 8 गिरफ्तार, 3 बस्ती के

समायोजन न हुआ तो विधानसभा पर सामूहिक आत्महत्या करेंगे कोरोना योद्धा

बस्ती : ब्लॉक रोड पर मामूली विवाद में मारपीट, युवक की मौत