जेएनयू हिंसा : अमित शाह ने ली रिपोर्ट

तारकेश्वर टाईम्स (हि0दै0)
नई दिल्ली । जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में छात्रों के समूह आपस में भिड़ गए । मिली जानकारी के अनुसार छात्रों के एक समूह को कुछ नकाबपोश लोगों ने रॉड और डंडों से मारा । जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय छात्र संघ की अध्यक्ष आइशी घोष ने बताया कि उनपर हमला किया गया ।  घोष ने कहा, 'गुंडों ने नकाब पहनकर मुझ पर बेरहमी से हमला किया । मेरा खून बह रहा है. मुझे बेरहमी से पीटा गया ।' वहीं एम्स ट्रॉमा सेंटर की ओर से कहा गया है कि जेएनयू से 18 लोग एम्स पहुंचे हैं । इनमें से ज्यादातर के सिर से खून बह रहा था साथ ही उन्हें खरोंचे आईं हैं । छात्रों से मिलने के बाद प्रियंका गांधी ने कहा कि एक छात्र ने कहा है कि पुलिस ने उसके सिर पर मारा । वहीं केंद्रीय विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा कि ये पूरी तरह से जेएनयू की परंपरा के खिलाफ है ।



जेएनयू प्रशासन की ओर से कहा गया है कि आज शाम जेएनयू कैंपस में हुई हिंसा बड़े ही दुर्भाग्य की बात है । प्रशासन कैंपस में हुई किसी भी प्रकार की हिंसा कड़ी निंदा करता है । जेएनयू प्रशासन उन छात्रों के लिए बहुत दर्द की पीड़ा महसूस कर रहा है, जिन्हें हिंसा में चोटें आई हैं ।
मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा कि जेएनयू में हुई हिंसा दुर्भाग्यवश और चिंताजनक हैं । मैं कैंपस में हुई हिंसा की निंदा करता हूं । मैं सभी छात्रों से अपील करता हूं कि वह विश्वविद्यालय का गरिमा और शांति बनाए रखें ।



वहीं गृह मंत्रालय के सूत्रों ने जानकारी है कि गृह मंत्री अमित शाह ने दिल्ली पुलिस के कमिश्नर अमूल्य पटनायक से जेएनयू के हालातों पर बातचीत की है । अब तक मिली जानकारी के मुताबिक जॉइंट सीपी रैंक के अधिकारी मामले की जांच कर अपनी रिपोर्ट सौंपेंगे ।
साउथ वेस्ट दिल्ली के डिप्टी पुलिस कमीश्नर देवेंद्र आर्य ने जेएनयू में छात्रों पर हुए हमले पर कहा कि कैंपस के अंदर हालात सामान्य हैं । पुलिस द्वारा फ्लैग मार्च किया जा रहा है. सभी हॉस्टल सुरक्षित हैं. रणनीति तैयार कर पुलिस को तैनात किया गया है । आर्य ने कहा कि फिलहाल कैंपस में के किसी भी हिस्से में किसी भी प्रकार की हिंसा नहीं हो रही है । आज शाम को दो समूहों में झड़प हुई थी जिसमें कुछ छात्र घायल हुए हैं और कुछ सम्पत्ति का भी नुकसान हुआ है । जेएनयू प्रशासन ने शांति बहाल करने के लिए पुलिस को कैंपस में आने की इजाज़त दी है ।


अधिकारियों ने जानकारी दी है मानव संसाधन मंत्रालय ने इस मामले में जेएनयू रजिस्ट्राट से इस पूरे मामले पर रिपोर्ट मांगी है । मानव संसाधन मंत्रालय के अधिकारियों ने कहा कि हमने परिसर में शांति बहाल करने के लिए जेएनयू वीसी और पुलिस अधिकारियों से बात की है ।
छात्रों के साथ हुई इस प्रकार की हिंसा के बाद कई छात्र दिल्ली पुलिस मुख्यालय के बाहर विरोध प्रदर्शन करने के लिए इकट्ठा हुए हैं ।
         ➖   ➖   ➖   ➖   ➖
देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएँ 
लाॅग इन करें : - tarkeshwartimes.page 
सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए 
मो0 न0 : - 9450557628


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

लखनऊ में सैकड़ों अरब के कैलिफोर्नियम सहित 8 गिरफ्तार, 3 बस्ती के

समायोजन न हुआ तो विधानसभा पर सामूहिक आत्महत्या करेंगे कोरोना योद्धा

बस्ती पंचायत चुनाव मतगणना : अबतक घोषित परिणाम