जरूरतमन्दों तक पहुंचे सरकारी योजनाओं का लाभ : आरके. पाण्डेय

तारकेश्वर टाईम्स (हि0दै0)
जरुरतमंदो तक पहुचे सरकारी योजनाओं का लाभ एवं सामाजिक संस्थाओं को मिले सरकारी योजनाओं को जरुरतमंदो तक पहुचाने का दायित्व - आर.के.पाण्डेय एडवोकेट


 प्रयागराज  (उ0प्र0) । एनजीओ परमेंदु वेलफेयर सोसाइटी के प्रबंधक आर.के.पाण्डेय एडवोकेट ने आज प्रदेश सरकार के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी एवं भारत सरकार के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी से उनके व्यक्तिगत अकाउंट्स पर उनके द्वारा लाई गई योजनाओं को सफलतापूर्वक समाज के जरूरतमंद लोगों में न पहुंचने के संबंध में अपनी बात रखी एवं साथ ही उन्होंने बताया कि सामाजिक संस्थाओं (एनजीओ) को दायित्व देकर जो भी उचित योजनाएं लाई जा रही है उसको सफलतापूर्वक उचित व्यक्ति के हाथों में पहुंचाया जाए ।



यह बातें एडवोकेट आर.के. पाण्डेय ने मीडिया से बताते हुए कहा कि आज के समय में देखा जाए तो जितने भी योजनायें भारत व राज्य सरकार द्वारा लायी जाती हैं, देश व समाज हित मे उचित कदम है लेकिन जिस उद्देश्य से सरकार  योजनाओं को जमीनी स्तर पर ला रही है उसका फायदा चंद लोगों को ही मिल पा रहा है। देखा जाए तो शौचालय की व्यवस्था, मकान बनवाने हेतु मुद्रा व्यवस्था, गैस देने की व्यवस्था, स्वास्थ्य बीमा आदि सभी योजनायें जमीनी स्तर पर सफल प्रतित नही हो रहा है,सर्वे के माध्यम से पता किया गया तो धरातल पर देखने को मिलता है कि जिसको बहुत ही जरूरत थी उसको उस योजनाओं का लाभ नहीं मिल पाया क्योंकि उसका ना किसी से उसकी अच्छी पकड़ थी जिससे कि उसको  उस योजना का लाभ मिल सके, खासकर ग्रामीण क्षेत्रों एवं शहरी क्षेत्रों में भी देखा जाता है कि जिनके सगे संबंधी लोगों कि अच्छी खासी पकड़ होती है वह उस योजना का लाभ ले पाते हैं ।



योजनाएं जितने भी भारत सरकार के अब तक आयी है काफी सराहनीय है और उन्होंने एक गरीब परिवार को हिम्मत देने और असहाय परिवार को समाज के साथ खड़ा करने का काम कर रही है यह काफी सराहनीय है भारत सरकार राज्य  सरकार की योजनाएं जो समाज के लोगों के लिए एक जीने का सहारा बनी हुई है , साथ ही साथ यह भी कहा कि यह बातें बिल्कुल सत्य है और कहना नहीं चाहिए लेकिन जो भी सरकार द्वारा योजनाएं चलाई जा रही हैं उसमें काफी घोटाला हो रहा है । साथ ही कुलदीप पाण्डेय ने यह भी कहा सरकारी योजनाओं का लाभ बमुश्किल ही 20-30 प्रतिशत लोगों को सरलता से उनके पास मिलता है इसका कारण यह है कि सरकार जो भी योजनायें जनमानस के हित में लागू करती है या जो भी उनके लिए एक कुशल कार्य हेतु योजनाओं को लांच करती है वह सीधे-सीधे उन तक नहीं पहुंच पाता है। यह जो है काफी निराशाजनक साबित होता जा रहा है कि जरूरतमंद लोगों को समान प्राप्त नहीं हो पा रहा है इसीलिए प्रदेश एवं केंद्र सरकार से गुजारिश है कि जितने भी सामाजिक एवं धार्मिक संगठन है जो संस्था व एनजीओ के रूप में चल रही है उनको यह कार्य सौंपा जाए उन पर विश्वास किया जाए जिससे कि संस्थाएं अपने क्षेत्र में जरूरतमंद लोगों को चिन्हित करके उनको कुशलता पूर्वक जो जरूरत की चीजें हैं प्रदान कर सकें, जिससे सरकार के द्वारा लायी गई योजनाओं का सीधा-सीधा फायदा उन चंद लोगों को मिलेगा,जिसको सत् प्रतिशत आवश्यकता है। इसके साथ ही साथ जो सभी क्षेत्र के सामाजिक संस्थाओं एवं एनजीओ को यह भी आदेश दिया जाए कि वह अपने क्षेत्र अपने मोहल्ले अपने समाज के जितने भी ऐसे जरुरतमंद लोग हैं उन को चिन्हित कर सरकार को पत्र लिखकर प्रेषित किया जाए कि कितने इस प्रकार के लोग हैं जो भी वंचित हैं जिनको अभी सरकारी योजनाओं का लाभ नहीं मिला हुआ है क्योंकि जहां तक जानते हैं कि बड़े-बड़े आला अधिकारी से लेकर के जो भी निचले स्तर के लोग हैं , वह अपने सगे-संबंधी अपने जान-पहचान के लोगों में योजनाओं का लाभ प्रदान कराते हैं और  जो जमीनी स्तर के लोगों को  मिलना चाहिए उनको योजनाओं का लाभ नहीं मिलता है । इसीलिए समाजिक संगठनों को सरकार महत्व दें और संगठनों को यह दायित्व सौंपेें कि वह गाँव और  शहर में इस तरह की योजनाओं को  सफल बनाते हुए इस योजनाओं को सफलता पूर्वक पहुचायें।
      ➖   ➖   ➖   ➖   ➖
देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएँ 
लाॅग इन करें : - tarkeshwartimes.page 
सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए 
मो0 न0 : - 9450557628


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

लखनऊ में सैकड़ों अरब के कैलिफोर्नियम सहित 8 गिरफ्तार, 3 बस्ती के

समायोजन न हुआ तो विधानसभा पर सामूहिक आत्महत्या करेंगे कोरोना योद्धा

बस्ती : ब्लॉक रोड पर मामूली विवाद में मारपीट, युवक की मौत