गांवों में पड़े हैं स्वच्छ भारत मिशन के 51 करोड़

तारकेश्वर टाईम्स (हि0दै0)


बस्ती ( सूवि.उप्र. ) । स्वच्छ भारत मिशन का लगभग 51 करोड़ रूपया ग्राम निधि-6 के खातों मे वर्षो से पड़ा है। जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन ने इस धनराशि की वापसी के लिए प्रयास शुरू किया है। विकास भवन सभागार में आयोजित बैठक में उन्होंने निर्देश दिया है कि तीन दिन के भीतर उक्त धनराशि जिले के खाते में स्थानान्तरित करें। 
सभी खण्ड विकास अधिकारी, सहायक विकास अधिकारी पंचायत तथा ग्राम विकास पंचायत अधिकारियों की बैठक में जिलाधिकारी ने सख्त रूख अपनाया।



समीक्षा बैठक में उन्होंने पाया कि कुछ ग्राम पंचायत विकास अधिकारियों/सचिव को खाते में कितनी धनराशि है इसकी भी सही-सही जानकारी नही है। कुछ सचिवों ने बताया कि धन वापसी में ग्राम प्रधान सहयोग नही कर रहे है। कुछ सचिवों ने बताया कि धन वापसी में स्थानीय बैंक भी सहयोग नही कर रहे है। जिलाधिकारी ने डीपीआरओ केा निर्देश दिया है कि तीन दिन के भीतर धनराशि वापस न करने वाले सचिव तथा ग्राम प्रधानों को नोटिस जारी करें। उन्होंने कहा कि प्रोबेशन प्रीरिएड में चल रहे सचिवों की बर्खास्तगी की भी कार्यवाही प्रस्तावित करें। उन्होंने बैठक में अनुपस्थित रहने पर बीडीओं साऊघाॅट तथा पुर्सिया के ग्राम सचिव का स्पष्टीकरण तलब करने का निर्देश दिया। 
उल्लेखनीय है कि जिलाधिकारी पिछले डेढ महीने में 51 करोड़ की वापसी के लिए दो बैठके कर चुके है। गुरूवार को तीसरी बैठक में उन्होंने सभी सचिवों को अन्तिम चेतावनी देते हुए धन वापसी के लिए निर्देशित किया है। उन्होनेे सीडीओं को निर्देश दिया कि बैंक के जिला समन्वयको के साथ बैठक करके सुनिश्चित करें कि ग्रामनिधि खाता संख्या-06 अपडेट हो तथा इसमें उपलब्ध धनराशि तीन दिन में वापस हो जायें ।



उन्होंने निर्देश दिया कि पूरे जिले में ग्राम निधि के खातों द्वारा आरटीजीएस के माध्यम से धन का लेन-देन किया जायेंगा। अब कोई चेक नही काटे जायेंगे। सभी ग्राम सचिव इसका अनुपालन करें। उन्होने यह भी निर्देश दिया कि शौचालय निर्माण के लिए जिन लाभार्थियों को पहली किस्त दे दी गयी है उन्हें तत्काल दूसरी किस्त जारी करें। 
सीडीओ अरविन्द पाण्डेय ने बताया कि शासन के निर्देशानुसार ग्राम निधि खाता संख्या 06 में निर्मल भारत, स्वच्छ भारत मिशन, अपात्र पाये गये लाभार्थी तथा व्याज की धनराशि शतप्रतिशत वापस किया जाना है। धनराशि वापस न होने के कारण शासन द्वारा डीपीआरओ को कारण बताओं नोटिस जारी की गयी है। ऐसी स्थिति में किसी भी स्तर पर लापरवाही बर्दास्त नही की जायेंगी। सहायक विकास अधिकारी पंचायत तथा ग्राम सचिव सुनिश्चित करे कि तीन दिन के भीतर आरटीजीएस के माध्यम से धनराशि वापस हो जाय। 
समीक्षा में पाया गया कि विभिन्न गावों में अधिकतम 23 लाख रूपये तक खाते में अवशेष है। कुछ ग्राम निधि के खातों में सम्पूर्ण धनराशि का उपभोग कर लिया गया है। रूधौली ब्लाक के अम्बारी गाॅव के  खाते में 16 लाख रूपये से अधिक अवशेष है। ग्राम सचिव ने बताया कि प्रधान जी टीचर है और वे समय नही दे पाते। जिलाधिकारी ने दोनों को नोटिस जारी करने का निर्देश दिया। 
बैठक में परियोजना निदेशक आरपी सिंह, डीडीओ अजीत कुमार श्रीवास्तव, उपायुक्त मनरेगा इन्द्रपाल सिंह, डीपीआरओ विनय सिंह, जिला समन्वयक राजाशेर सिंह, खण्ड विकास अधिकारीगण, सहायक विकास अधिकारी पंचायत तथा ग्राम सचिवगण उपस्थित रहे। 
        -  -  -  -  -  -  -  -  -  -  - -  -
देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएँ 
लाॅग इन करें : - tarkeshwartimes.page 
सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए 
मो0 न0 : - 9450557628


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

लखनऊ में सैकड़ों अरब के कैलिफोर्नियम सहित 8 गिरफ्तार, 3 बस्ती के

समायोजन न हुआ तो विधानसभा पर सामूहिक आत्महत्या करेंगे कोरोना योद्धा

बस्ती पंचायत चुनाव मतगणना : अबतक घोषित परिणाम