सीएए नेहरू - गांधी के वादों को पूरा करने वाला कानून : आरिफ खान

तारकेश्वर टाईम्स  (हि0दै0)


केरल के राज्यपाल ने वाराणसी में कहा कि नफरत के सहारे आंदोलन तो चल सकता है लेकिन देश नहीं। साथ ही उन्होंने नागरिकता संशोधन कानून को आजादी के दौर के नेताओ के वादे को पूरा करने वाला बताया  


 
 वाराणसी  ( उ0प्र0 ) ।  केरल के राज्‍यपाल आरिफ मोहम्‍मद खान ने कल बाईस दिसम्बर को वाराणसी में कहा कि नफरत के सहारे आंदोलन तो चल सकता है लेकिन देश नहीं चल सकता है । उन्होंने कहा कि नागरिकता संशोधन कानून आजादी के दौर के नेताओं के वादे को पूरा करने वाला है । काशी हिंदू विश्‍वविद्यालय (बीएचयू) के मालवीय मूल्‍य अनुशीलन केंद्र के प्रेक्षागृह में काशी मंथन की ओर से आयोजित 'वसुधैव कुटुंबकम' तथा 'एको अहं द्वितीयो नास्ति' विषयक विशेष व्‍याख्‍यान को राज्‍यपाल ने संबोधित किया ।


केरल गवर्नर ने भारतीय संस्‍कृति की परंपरा की खूबियों के साथ ही वर्तमान में नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) व नैशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजंस (एनआरसी) को लेकर चल रहे आंदोलन तक की बेबाकी से चर्चा की ।


राज्‍यपाल ने कहा कि चाहे नेहरू हों या गांधी या फिर पटेल व अन्‍य नेता , सभी ने भारत के बंटवारे को न चाहते हुए स्‍वीकार किया था । भविष्‍य के संशयों को देखते हुए तब कहा था कि हमारे दरवाजे हमेशा सभी के लिए खुले रहेंगे । नागरिकता कानून में संशोधन नेहरू - गांधी जैसे नेताओं के वादों को पूरा करने वाला और वक्‍त की जरूरत के अनुसार लिया गया फैसला है । नागरिकता कानून को एनआरसी से जोड़कर, जो भय बनाया जा रहा है वह गलत है। मुसलमानों को इस बारे में सही जानकारी देकर समझाने की जरूरत है । 
           ➖   ➖   ➖   ➖   ➖
देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएँ 
लाॅग इन करें : - tarkeshwartimes.page 
सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए 
मो0 न0 : - 9450557628


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बस्ती के पूर्व सीएमओ ने गंगा में लगाई छलांग

लॉक डाउन पूरी तरह खत्म

बस्ती जिले में 35 नये डॉ. तैनात