नागरिकता कानून को लेकर मोदी ने विपक्ष पर किया हमला

तारकेश्वर टाईम्स  (हि0दै0)
नागरिकता कानून के खिलाफ हिंसा करने वालों को कपड़ों से पहचाना जा सकता है : पीएम मोदी


झारखंड के दुमका की रैली में विपक्ष पर जमकर बरसे पीएम मोदी
दुमका ( झारखण्ड ) । प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रविवार को आरोप लगाया कि कांग्रेस और उसके सहयोगियों ने नागरिकता संशोधन कानून पर बवाल खड़ा कर दिया है , और देश के विभिन्न हिस्सों में अशांति और आगजनी के पीछे विपक्षी पार्टियों का ही हाथ है ।



प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने झारखंड के दुमका में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए विपक्षी गठबंधन पर निशाना साधा । उन्होंने कहा कि कांग्रेस के पास झारखंड को विकसित करने का कोई रोडमैप या इच्छा नहीं है । उन्होंने कहा , कांग्रेस और उसके सहयोगी नागरिकता अधिनियम को लेकर आग भड़का रहे हैं लेकिन पूर्वोत्तर के लोगों ने नागरिकता संशोधन अधिनियम के खिलाफ हिंसक प्रदर्शन को अस्वीकार कर दिया है । कांग्रेस के कृत्य साबित करते हैं कि संसद में लिए गए सभी निर्णय सही हैं । मोदी ने दावा किया कि विपक्षी पार्टियों के नेताओं ने केवल अपने लिए महलों का निर्माण किया और उन्हें लोगों की समस्याओं के बारे में कोई चिंता नहीं थी । केन्द्र और राज्य में भाजपा के नेतृत्व वाली सरकारों की उपलब्धियां गिनाते हुए उन्होंने कहा , मैं राज्य में हमारी पार्टी द्वारा किये गये विकास कार्यों का लेखा-जोखा रखने यहां आया हूं ।


पीएम मोदी ने कहा झारखण्ड मुक्ति मोर्चा और कांग्रेस के पास झारखंड के विकास का न कोई रोडमैप है और न इरादा है , और न कभी भूतकाल में कुछ किया है । अगर वो जानते है तो उनको एक ही बात का पता है , भाजपा का विरोध करो , मोदी को गाली दो । भाजपा का विरोध करते-करते इन लोगों को देश का विरोध करने की आदत हो गई है । उन्‍होंने कहा हमारे देश की संसद ने नागरिकता कानून से जुड़ा एक महत्वपूर्ण बदलाव किया । इस बदलाव के कारण पाकिस्तान , अफगानिस्तान और बांग्लादेश से जो वहां कम संख्या में थे , जो अलग धर्म का पालन करते थे , इसलिए वहां उन पर जुल्म हुए । 



हिंसक विरोध प्रदर्शन के बाद गृह मंत्री अमित शाह ने नागरिकता कानून के बारेे में कहा कि उनका वहां जीना मुश्किल हो गया । ये तीन देशों से हिंदू  , ईसाई , सिख , पारसी , जैन , बौद्ध उनको वहां से अपना गांव , घर, परिवार सबकुछ छोड़कर भारत में भाग कर यहां शरणार्थी की जिंदगी जीने के लिए मजबूर होना पड़ा । उनके जीवन को सुधारने के लिए । इन गरीबों को सम्मान मिले इसलिए भारत की दोनों सदनों में भारी बहुमत से इन गरीबों के लिए नागरिकता का निर्णय किया । कांग्रेस और उसके साथी तूफान खड़ा कर रहे हैं , उनकी बात चलती नहीं है तो आगजनी फैला रहे हैं । ये जो आग लगा रहे हैं, ये कौन है उनके कपड़ों से ही पता चल जाता है । देश का भला करने की , देश के लोगों का भला करने की इन लोगों से उम्मीद नहीं बची है । ये सिर्फ और सिर्फ अपने परिवार के बारे में सोचते हैं ।


प्रधानमंत्री ने कहा , मैं असम के भाइयों - बहनों का सिर झुकाकर अभिनंदन करता हूं कि इन्होंने हिंसा करने वालों को अपने से अलग कर दिया है । शांतिपूर्ण तरीके से अपनी बात बता रहे हैं । देश का मान - सम्मान बढ़े ऐसा व्यवहार असम , नार्थ ईस्ट कर रहा है । कल्पना कीजिए , अगर बाबा तिलका मांझी सिर्फ अपना हित ही सोचते तो क्या समाज के लिए इतना कुछ कर पाते ? अगर सिद्धो - कान्हू , चांद - भैरव , फूलो - झानो , सिर्फ अपना लाभ ही देखते तो क्या अंग्रेजों का मुकाबला कर पाते । ये तमाम सेनानी , ये तमाम शहीद , परिवार हित से ऊपर उठकर , समाज के हित में , राष्ट्र के हित में खड़े हुए । भाजपा ऐसे ही संस्कारों को धारण करती है , उनको सम्मान देती है ।
         ➖   ➖   ➖   ➖   ➖
देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएँ 
लाॅग इन करें : - tarkeshwartimes.page 
सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए 
मो0 न0 : - 945055762


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बस्ती के पूर्व सीएमओ ने गंगा में लगाई छलांग

लॉक डाउन पूरी तरह खत्म

बस्ती जिले में 35 नये डॉ. तैनात