दिल्ली अग्निकांड में 43 की मौत : मुआवजे की घोषणा , मजिस्ट्रेटी जांच के आदेश

तारकेश्वर टाईम्स  (हि0दै0)


देश की राजधानी दिल्ली में आज तड़के उस समय हाहाकार मच गया , जब गल्ला मण्डी स्थित एक बिल्डिंग में आग लग गयी , जिसमें 43 लोगों की जान चली गयी । कई लोग घायल हैं । मृतकों और घायलों को मुआवजे की घोषणा के साथ ही मजिस्ट्रेटी जांच के आदेश भी दे दिये गये हैं । इस भयावह घटना पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने गहरा दु:ख व्यक्त किया है । ( रिपोर्ट - प्रशान्त द्विवेदी )



नई दिल्ली । दिल्ली की अनाज मंडी स्थित एक इमारत में रविवार की सुबह भीषण आग लग गई । इस हादसे में 43 लोगों की मौत हो गयी है । कई लोग गंभीर रूप से झुलस गए हैं । उन्हें एलएनजेपी अस्पताल में भर्ती कराया गया है । दमकल की 30 गाड़ियां ने काफी देर में आग पर काबू पाया । दिल्ली सरकार ने मृतकों के परिजनों को दस - दस लाख और घायलों को एक - एक लाख रू0 मुआवजा देने की घोषणा की है । घटना की मजिस्ट्रेटी जांच के भी आदेश दे दिये गये हैं ।


दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली सरकार घायलों का इलाज भी करवाएगी । उन्होंने इसे बेहद दुखद घटना बताते हुए कहा कि हमने इस मामले में मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दे दिए हैं ।


पुलिस ने बताया कि एक आवासीय इलाके में चल रही फैक्ट्री में आग लगने के समय 59 लोग अंदर थे । आग लगने की जानकारी सुबह पांच बजकर 22 मिनट पर मिली , जिसके बाद दमकल के 30 वाहन घटनास्थल पर पहुंचे । घटनास्थल पर हृदय विदारक दृश्य पसरा हुआ है । फैक्ट्री में काम कर रहे लोगों के रिश्तेदार और स्थानीय लोग घटनास्थल की ओर भाग रहे थे । आग की चपेट में आए लोगों के परेशान परिवार विभिन्न अस्पतालों में अपने संबंधियों को खोज रहे थे । मृतकों और झुलसे लोगों को विभिन्न अस्पतालों में ले जाया गया है । 


बिहार के बेगूसराय के रहनेवाले 23 वर्षीय मनोज ने बताया कि उनका 18 साल का भाई यहां काम करता है । उन्होंने कहा ,  मेरे भाई के दोस्त से मुझे जानकारी मिली कि वह इस घटना में झुलस गया है । मुझे कोई जानकारी नहीं है कि उसे किस अस्पताल में ले जाया गया है ।



  अधिकारियों ने बताया कि परिसर में कई इकाइयां चल रही हैं । यह इलाका बेहद संकरा है । वहीं दमकल कर्मियों ने बताया कि कई फंसे हुए लोगों को बाहर निकाला गया है , और उन्हें आरएमएल अस्पताल , एलएनजेपी और हिंदू राव अस्पताल पहुंचाया गया है । 


एलएनजेपी के चिकित्सा अधीक्षक डॉक्टर किशोर सिंह ने बताया कि इस अस्पताल में 34 लोगों को मृत लाया गया था , और लोगों के मरने के पीछे की मुख्य वजह धुएं की चपेट में आकर दम घुटना है ।  कुछ शव जले हुए थे । उन्होंने बताया कि एलएनजेपी में लाए गए 15 झुलसे लोगों में से नौ निगरानी में हैं और कई आंशिक रूप से झुलसे हैं । 


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस घटना को ''बेहद भयावह'' बताया है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी इस घटना को दुखद बताते हुए कहा कि दमकल कर्मी हर संभव कोशिश कर रहे हैं । आग में झुलसे लोगों को अस्पताल ले जाया गया है ।
            ➖   ➖   ➖   ➖   ➖
देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएँ 
लाॅग इन करें : - tarkeshwartimes.page 
सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए 
मो0 न0 : - 9450557628


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

रमंति इति राम: , राम जीवन का मंत्र

अतीक का बेटा असद और शूटर गुलाम पुलिस इनकाउंटर में ढेर : दोनों पर था 5 - 5 लाख ईनाम

अतीक अहमद और असरफ की गोली मारकर हत्या : तीन गिरफ्तार