बीएचयू छात्र ने डिग्री लेने से किया इंकार @ सीएए

तारकेश्वर टाईम्स  (हि0दै0)


  वाराणसी  ( उ0प्र0 ) । बीएचयू के दीक्षांत समारोह के दौरान एक छात्र ने नागरिकता कानून के विरोध में डिग्री लेने से इनकार कर दिया । छात्र ने कहा कि प्रशासन को नागरिकता ऐक्ट के विरोध में जेल गए छात्रों की चिंता नहीं है । ऐसे में छात्रों की चिंता करते हुए वह डिग्री नहीं ले सकते । उत्तर प्रदेश के बनारस हिंदू विश्वविद्यालय के 101वें दीक्षांत समारोह के दूसरे दिन संकायवार उपाधि वितरण समारोह के दौरान सीएए और एनआरसी के विरोध और समर्थन का रंग दिखाई दिया । सीएए के विरोध में एक छात्र ने अपनी डिग्री लेने से ही इनकार कर दिया , वहीं कानून के समर्थन में तमाम छात्र दीक्षांत के पोशाक में दुशाला पर स्टीकर लगाए भी दिखाई दिए ।



गौरतलब है कि नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ 19 दिसंबर को बीएचयू के साथ शहर के कई हिस्सों में उग्र प्रदर्शन के दौरान कुल 69 लोग जेल में हैं । इसमें करीब 20 छात्र बीएचयू के 19 दिसंबर से जिला जेल में बंद हैं । बनारस के सेशन कोर्ट ने इन छात्रों की जमानत याचिका खारिज कर दी है । इसके बाद मंगलवार को जेल में बंद छात्रों के समर्थन में जहां एक छात्र ने डिग्री नहीं ली वहीं कई छात्र हाथों में पोस्टर लिए भी दिखाई दिए ।



कला संकाय सभागार में चल रहे समारोह के दौरान रजत नाम के छात्र ने कहा कि उसके तमाम साथी 19 दिसंबर से सीएए के विरोध में जेल में हैं । यूनिवर्सिटी प्रशासन को छात्रों की चिंता नहीं है। ऐसे में उनके प्रति चिंता जाहिर करते हुए मैं डिग्री नहीं लूंगा । बता दें कि दीक्षांत समारोह के कृषि संकाय कृषि विज्ञान संस्थान द्वारा उपाधि वितरण कार्यक्रम के अवसर पर 400 से ज्यादा विद्यार्थियों को डॉक्टर ऑफ फिलॉसफी, मास्टर ऑफ साइंस (एग्री.) तथा बैचलर ऑफ साइंस (एग्रीकल्चर) की उपाधियां प्रदान कीं ।



इस दौरान सब्या सिंह को सर्वश्रेष्ठ स्नातक का गोल्ड मेडल तथा स्नेहा गुप्ता को सर्वश्रेष्ठ परास्नातक कृषि का गोल्ड मेडल प्रदान किया गया।
       ➖   ➖   ➖   ➖   ➖
देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएँ 
लाॅग इन करें : tarkeshwartimes.page 
सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए 
मो0 न0 : - 9450557628


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बस्ती के पूर्व सीएमओ ने गंगा में लगाई छलांग

लॉक डाउन पूरी तरह खत्म

बस्ती जिले में 35 नये डॉ. तैनात