उसे डर लग रहा था , दरिंदों ने नोच डाला , रेप के बाद जिंदा जलाया @ निर्भया - 2



हैदराबाद ( तेलंगाना ) ।
   मानवता को तार तार करते हुए दिल दहला देने वाली दिल्ली के निर्भया हत्याकाण्ड को सात साल बाद भी लोग भुला नहीं पाये हैं । सोचकर रूह कांप जाती है । लेकिन ये क्या हैदराबाद में डाॅ0 युवती के साथ निर्भया -2 , हो क्या रहा है ? आखिर कब तक चलेगा यह सब और क्यों ? खैर हैदराबाद में दो दिन पहले हुए सामूहिक बलात्कार और निर्मम हत्या के मामले में चार आरोपी गिरफ्तार हो गये हैं । पुलिस जांच कर रही है । लेकिन इतने से काम नहीं चलेगा । हम किस समाज में जी रहे हैं । क्या ऐसे सुरक्षित रहेंगी बेटियां । कब बदलेगी हमारी सोच और गन्दी मानसिकता । यह सोचकर रूह कांप जाती है , आखिर देश में कब तक होते रहेंगे ऐसे घिनौने और दरिन्दगी भरे काण्ड । 



  ये भारत का हैदराबाद है । जहां डाॅ0 युवती की पार्क की हुई स्कूटी को दरिन्दों द्वारा योजना बनाकर पहले पंक्चर किया जाता है । बाद में उसका पीछा कर उसे गन्दी निगाहों से घूर घूर कर आतंकित किया जाता है । आखिरकार हवस के भूखे भेड़ियों ने उसकी आबरू लूटी और रेप के बाद जिन्दा जला दिया ।


हैदराबाद की साइबराबाद पुलिस ने बुधवार 27 नवम्बर 2019 को  पशु चिकित्सक युवती के साथ सामूहिक दुष्कर्म और हत्या के मामले में शुक्रवार 29 नवम्बर को चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है । हिरासत में लिए गए लोगों में एक ट्रक ड्राइवर और एक क्लीनर शामिल है । पुलिस को अंदेशा है कि आरोपियों ने युवती लड़की के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया और बाद में गला घोंटकर उसकी हत्या कर दी और शव को जला दिया।



आरोपियों के कबूलनामे और एकत्र किए गए सबूतों के आधार पर , यह पता चला है कि चारों आरोपी अपराध में शामिल थे । साइबराबाद के पुलिस आयुक्त वी सी सज्जनर ने पत्रकारों से कहा कि चार आरोपियों ने बुधवार की शाम छह बजे पीड़िता को अपना दोपहिया वाहन शमशाबाद के तोंदुपल्ली टोल गेट में पार्क करते हुए देखा , उसी समय सभी ने अपराध करने की योजना बनाई थी । अपनी योजना के अनुसार , उन्होंने जानबूझकर पीड़िता की स्कूटी के पिछले टायर से हवा निकाल दी , उस समय सभी आरोपी नशे में थे।



राष्ट्रीय महिला आयोग (एनडब्ल्यूसी) ने तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद के बाहरी इलाके शादनगर में सरकारी पशु चिकित्सक के साथ सामूहिक दुष्कर्म और हत्या के खिलाफ शुक्रवार को स्वत: संज्ञान ले लिया है । जबकि पुलिस ने इस सिलसिले में सभी चारों आरोपियों को गिरफ्तार करने का दावा किया है । आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने एक ट्वीट में कहा कि पीड़ित परिवार की सहायता के लिए एनडब्ल्यूसी की एक टीम हैदराबाद भेजी गई है ।


सीसीटीवी विश्लेषण और चश्मदीद गवाहों की मदद से पुलिस ने इस जघन्य कांड से पर्दा उठाया है । आरोप है कि इन चारों ने मिलकर पशु चिकित्सक की हत्या से पहले उनके साथ सामूहिक बलात्कार भी किया । 



पुलिस ने कहा कि अभियुक्तों को अधिकतम सजा दिलाने और उनके खिलाफ तेजी से मुकदमा चलाने के लिए महबूबनगर फास्ट - ट्रैक अदालत को मामला सौंपने का अनुरोध किया जाएगा । जांच के बाद, चार आरोपियों - मोहम्मद उर्फ आरिफ (लॉरी चालक) , जोलू शिवा, जोलू नवीन (दोनों सहायक) और चिंताकुंटा चेन्नेकशवुलु उर्फ चेन्ना (चालक) को शादनगर पुलिस ने हिरासत में ले लिया है । सभी आरोपी नारायणपेट जिले के मकतल मंडल के निवासी हैं । गवाहों और सीसीटीवी के विवरण एकत्र करने के लिए 10 टीमों का गठन किया गया था । 



तेलंगाना के मंत्री के.टी. रामा राव ने घटना की निंदा करते हुए मामले की व्यक्तिगत निगरानी करने का वादा किया । मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव के बेटे रामा राव ने कहा कि सरकार यह सुनिश्चित करेगी कि पीड़िता के परिवार को जल्द से जल्द न्याय मिले । पुलिस ने जुल्म की शिकार हुई युवती की स्कूटी , कपड़े , जूतियां और शराब की बोतल टोल प्लाजा के पास से बरामद की है ।
          ➖    ➖    ➖    ➖    ➖
देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएँ 
लाॅग इन करें : - tarkeshwartimes.page 
सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता 
चाहिए मो0 न0 : - 9450557628


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बस्ती के पूर्व सीएमओ ने गंगा में लगाई छलांग

लॉक डाउन पूरी तरह खत्म

बस्ती जिले में 35 नये डॉ. तैनात