तीस हजारी मामले पर गृह मंत्रालय और पुलिस की अर्जी खारिज , वकीलों ने की आत्महत्या की कोशिश


   दिल्ली के तीस हजारी कोर्ट में वकीलों और पुलिस के बीच हुई झड़प मामले में दिल्ली हाईकोर्ट ने अर्जी खारिज कर दी है और दो वकीलों ने की आत्महत्या की कोशिश भी की है ।


                ( के0 के0 उपाध्याय )


दिल्ली । दिल्ली हाई कोर्ट ने  बुधवार को तीस हजारी कोर्ट में 2 नवंबर 2019 को वकीलों और पुलिस के बीच हुई झड़प मामले में दिए गए कोर्ट के आदेश की स्पष्टता जानने के लिए दाखिल की गई गृह मंत्रालय की अर्जी खारिज कर दी। साथ ही दिल्ली हाई कोर्ट ने साथ ही साकेत जिला अदालत की घटना में वकीलों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की पुलिस की अर्जी भी खारिज कर दी। 



इस झड़प के खिलाफ वकीलों की हड़ताल बुधवार को भी जारी रही। रोहिणी कोर्ट में प्रदर्शन कर रहे एक वकील ने कहा, हमारी लड़ाई केवल उन पुलिसवालों के खिलाफ है, जिन्होंने उस दिन हम पर गोलियां चलाई थीं और हमारे ऊपर लाठीचार्ज किया था। हम उनकी गिरफ्तारी तक प्रदर्शन जारी रखेंगे।'



वहीं इस मामले में शामिल वकीलों के खिलाफ कार्रवाई की मांग करते हुए हजारों दिल्ली पुलिसकर्मियों ने बुधवार को आईटीओ स्थित पुलिस मुख्यालय के सामने विरोध प्रदर्शन किया। पुलिस का ये विरोध प्रदर्शन 11 घंटे बाद उनकी सभी मागों को मानने के आश्वासन के बाद खत्म हुआ।



 दिल्ली पुलिस के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे दो वकीलों ने बुधवार को रोहिणी कोर्ट के सामने आत्महत्या करने की कोशिश की। इनमें से एक वकील ने अपने ऊपर केरोसीन छिड़कर कर खुद को आग लगाने की कोशिश की, लेकिन उसके साथियों ने उसे रोक लिया। वहीं दूसरा वकील कोर्ट की इमारत की छत पर चढ़ गया और वहां से कूदने की धमकी दी। एक जज से बात होने के बाद वह छत से नीचे आया।



इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

रमंति इति राम: , राम जीवन का मंत्र

अतीक का बेटा असद और शूटर गुलाम पुलिस इनकाउंटर में ढेर : दोनों पर था 5 - 5 लाख ईनाम

अतीक अहमद और असरफ की गोली मारकर हत्या : तीन गिरफ्तार