तपस्वी छावनी से निकाले जाने के बाद वाराणसी पहुंचे परमहंस दास , अब अयोध्या नहीं जाएंगे


परमहंस दास- गुरु का फैसला स्वीकार, नहीं लौटूंगा अयोध्या





अयोध्या ।
अयोध्या की तपस्वी छावनी मंदिर के निष्कासित महंत परमहंस दास ने रामजन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास पर हत्या की साजिश करने के साथ-साथ तपस्वी छावनी को हथियाने का आरोप लगाया है। तपस्वी छावनी से निकाले जाने के बारे में परमहंस दास ने कहा कि मुझे गुरु का फैसला स्वीकार है, मैं अब अयोध्या नहीं लौटूंगा।






 


अयोध्या फैसले को लेकर एक टीवी डिबेट के दौरान महंत परमहंस दास ने महंत नृत्यगोपाल दास को लेकर विवादित टिप्पणी की थी। इस टिप्पणी के बाद शुक्रवार को अयोध्या में संतों ने तपस्वी छावनी को घेर लिया था। संतों के घेराव की खबर मिलते ही भारी पुलिस फोर्स मौके पर पहुंचने के बाद महंत परमहंस दास को अपने साथ ले गई थी। अयोध्या में संतों के विरोध को देखते हुए काशी पहुंचे महंत परमहंस दास ने कहा कि मुझे पुलिस ने समय पर निकाला होता तो महंत नृत्यगोपाल दास के समर्थकों ने मुझे मार डाला होता।

 


आरोप लगाने के बाद तपस्वी छावनी से निकाले गए परमहंस दास





शनिवार को अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि न्यास अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास पर हत्या के आरोप पर महंत परमहंस दास को तपस्वी छावनी मंदिर के महंत सर्वेश्वर दास ने निष्कासित करते हुए कहा, 'परमहंस दास का वास्तविक नाम उदय नारायण दास है, जो फर्जी रूप से अपने आपको अभी तक महंत घोषित करते रहे हैं। इन्हें कभी लिखित रूप में महंत घोषित नहीं किया गया। उन्हें सिर्फ मंदिर में रहकर सेवा करने का कार्य सौंपा गया था।'











तपस्वी छावनी मंदिर से निष्कासित होने पर महंत परमहंस दास से जब सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा कि गुरु का फैसला स्वीकार है। मैं अब अयोध्या नहीं लौटूंगा। अब अपना पूरा जीवन जंगलों में बिताऊंगा, जब तक कि मुझे पर्याप्त सुरक्षा मुहैया नहीं कराई जाती है।

देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएँ 

लाॅग इन करें : - tarkeshwartimes.page 

सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता 

चाहिए मो0 न0 : - 9450557628




इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

रमंति इति राम: , राम जीवन का मंत्र

अतीक का बेटा असद और शूटर गुलाम पुलिस इनकाउंटर में ढेर : दोनों पर था 5 - 5 लाख ईनाम

अतीक अहमद और असरफ की गोली मारकर हत्या : तीन गिरफ्तार