इस बार 60 से ज्यादा जिलों से आएंगे प्रतिभागी,,3000 लोग दौड़ेंगे रन फाॅर नेचर: - भावेष पाण्डेय


बस्ती  ( उ0प्र0 ) ।
     12 नवम्बर को होने वाले बस्ती मिनी मैराथन की तैयारियों के सन्दर्भ में पत्रकारों को बताते हुए कार्यक्रम के संयोजक एवं नेशनल एसोसिएशन ऑफ़ यूथ के अध्यक्ष भावेष कुमार पाण्डेय ने कहा कि 10 राज्यों तक अपने पाँव पसारा हुआ नेशनल एसोसिएशन ऑफ़ यूथ बस्ती से ही पैदा हुआ एक संगठन है जो लगातार युवाओं की सामाजिक भागीदारी सुनिश्चित करने के लिए काम करता आ रहा है. बस्ती मिनी मैराथन नेशनल एसोसिएशन ऑफ़ यूथ की एक पहल है बस्ती के युवाओं और बस्ती की पहचान के लिए.
बस्ती मिनी मैराथन ग्रामीण एवं शहरी युवाओं और छात्र – छात्राओं को एक मंच पर लाने का प्रयास है. इसके माध्यम से ग्रामीण युवाओं को शहरी युवाओं के साथ मेलजोल बढाने का भी अच्छा अवसर मिलता है,  हालांकि यह एक शुद्ध रूप से खेल कार्यक्रम है और बस्ती मण्डल का सबसे बड़ा खेल उत्सव है, फिर भी सामाजिक सन्देश देने में पिछले वर्षों में बस्ती मिनी मैराथन बहुत सफल रहा है.  यह श्री राम, संत कबीर और भगवान बुद्ध की धरती बस्ती के ऐसे कार्यक्रम के रूप में प्रचलित हो रहा है जो सभी वर्गों के लोगों को एक साथ एक मंच देने के प्रयास में लगा है.


बस्ती मिनी मैराथन के बारे में बता रहे हैं मशहूर क्रिकेटर गौतम गम्भीर, वीडियो देखने के लिए क्लिक करेें -


https://youtu.be/Sd4tjNgazCU


 मिनी मैराथन दौड़ 12 नवम्बर को बस्ती जिला स्टेडियम में होगी और 60 से ज्यादा जिलों के प्रतिभागी इस कार्यक्रम का हिस्सा बनेंगे.



बस्ती मण्डल में ऐसा अपने तरह का अकेला कार्यक्रम है जिसमे खुले तौर पर विभिन्न क्षेत्रों से जुड़े युवा वालंटियर की भूमिका निभा रहे हैं और यह कार्यक्रम के सौन्दर्य को अवश्य बढ़ाएगा . बस्ती मण्डल के इस कार्यक्रम को सफल बनाने  के लिए सारी तैयारियां हो रही हैं और इस बार भी पहले से बेहतर कार्यक्रम कराने की योजना रहेगी . बस्ती मिनी मैराथन धीरे धीरे बस्ती की पहचान बनता जा रहा है और हम इस पहचान के रंग को कभी फीका नहीं होने देंगे ऐसा हम बस्ती के युवाओं का संकल्प है .
कार्यक्रम को सफल बनाने हेतु सघन सम्पर्क शुरू हो रहा है और सम्पर्क और क्रियान्वयन को और सक्रियता से आगे बढाने के लिए हमें योजना के साथ चलना होगा और हमें इस बात का ख्याल रखना होगा कि बस्ती की पहचान बन चुके इस कार्यक्रम को और विशाल और व्यवस्थित रूप हम कैसे दे सकते हैं . कार्यक्रम के दिन सांयकाल युवा कवियों द्वारा कवि सम्मेलन का आयोजन किया जाना भी तय किया गया है .



कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए विभिन्न कार्यकर्ताओं को सम्बंधित जिम्मेदारियां बांटी गयी, अनुशासन व्यवस्था बंडू हिवाराले, अतिथि व्यवस्था अभिषेक ओझा, भोजन वितरण रितिकेश सहाय, पुरस्कार वितरण नवीन त्रिपाठी, व्यवस्था प्रभारी अशोक तिवारी एवं क़ाज़ी फरजान, संचालन राम प्रताप सिंह, प्रमाण पत्र रत्नेश, अंकिता एवं मोनिका रजिस्ट्रेशन अमित राय, फिनिशिंग पॉइंट की व्यवस्था सुनील यादव, स्थान की व्यवस्था ओमकार चौधरी, कवि सम्मेलन वैभव एवं अभिनव एवं अन्य जिम्मेदारियां भी बांटी गयीं .



            कार्यक्रम में हमें हर तरह से बस्ती के माननीय नेताओं, व्यवसायियों, विद्यालयों, समाजसेवियों एवं पत्रकार भाइयों का सहयोग मिल रहा है और हम सभी बस्ती मिनी मैराथन को एक यादगार खेल कार्यक्रम बनाने की दिशा में पूरे जोश से काम कर रहे हैं.  बस्ती मिनी मैराथन कार्यक्रम सुबह 6 बजे से शुरू हो जाएगा और लगभग 11 बजे तक चलेगा . बस्ती मिनी मैराथन की आठ किलोमीटर की दौड़ स्टेडियम के मंडी गेट से शुरू होकर शास्त्री चौक से डीएम आवास से महाराणा प्रताप चौक से केडीसी होते हुए कंपनीबाग से गांधीनगर मार्ग होते हुए रोडवेज के नेहरु तिराहा से मालवीय मार्ग होते हुए रौता चौराहा से फव्वारा चौराहा होते हुए स्टेडियम के तहसील गेट पर समाप्त होगी . इस आठ किलोमीटर की दौड़ में तीन हजार से ज्यादा प्रतिभागी दौड़ेंगे . पूर्व सूचना देकर अन्य जिले से आने वाले प्रतिभागियों के लिए रुकने की व्यवस्था भी दी जा रही है .



            हमें पूरी उम्मीद है कि बस्ती मिनी मैराथन पिछले वर्षों की भांति इस वर्ष भी बेहतर तरीके से संपन्न होगा और इसके माध्यम से एक दिन पूरे देश में बस्ती को जाना जाएगा .देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएँ


लाॅग इन करें : - tarkeshwartimes.page 


सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए


मो0 न0 : - 9450557628


 


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

रमंति इति राम: , राम जीवन का मंत्र

अतीक का बेटा असद और शूटर गुलाम पुलिस इनकाउंटर में ढेर : दोनों पर था 5 - 5 लाख ईनाम

अतीक अहमद और असरफ की गोली मारकर हत्या : तीन गिरफ्तार