ग्राहकों से भिड़ जाता है रद्दी नाश्ता खिलाने वाला दुकान संचालक

                      ( अंकुर श्रीवास्तव )


बस्ती। कप्तानगंज बाजार में चाय की दुकानो, होटलो इत्यादि पर खाद्य पदार्थो में मिलावट आम बात हो गयी है। चाहे वह मिठाईयां हो या फिर कोई अन्य खाने पीने की वस्तु जिम्मेदार दुकानदार अपने अनैतिक मुनाफे के चक्कर में लोगो के स्वास्थ्य के साथ खेल खेल रहे है। वैसे तो कप्तानगंज बाजार में कई दुकाने इस तरह से अपने अनैतिक कारोबार को बढ़ावा दे रही हैं । 



 सूत्रो की मानें तो कप्तानगंज चैराहे के बगल सिंह स्वीट्स नामक एक दुकान है जो दूषित खाद्य पदार्थो को बेंचकर मुनाफा कमा रहा है। यदि ग्राहक उनसे उनके खाने पीने की चीजो का शिकायत करता है तो वहां के जिम्मेदार लोग आमादा फौजदारी हो जाते है।



      प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार 9 नवम्बर शनिवार को शाम लगभग 5 बजे दुकान पर कुछ ग्राहक चाय-नाश्ता करने के उद्देश्य से दुकान पर इकट्ठा हुये। उन लोगो ने दुकानदार से टिकिया लाने को कहा। दुकानदार के यहां काम करने वाले वेटर ने जब टिकिया लाया तो उसमें कीड़ा निकला। ग्राहको ने जब इस बात की शिकायत दुकानदार से कर दूसरी टिकिया लाने को बोला तो दुकानदार ने कहा कि अब जो आ गया है वही खाओ। इतने कीड़े से कुछ होने वाला नही है। ग्राहक ने जब उनको इस तरह से खाने पीने की चीजो को न बेंचने का आग्रह किया तो दुकान के जिम्मेदार लोग बहस पर उतारू हो गये और बोलने लगे है खाओ या न खाओ पूरे पैसे देकर जाओ। जब ग्राहक ने इसकी शिकायत अधिकारियों से करने को बोला तो दुकान के जिम्मेदार लोग कहने लगे कि जाओ जिससे कहना हो कह दो हमारी सेटिंग ऊपर तक है हमारा कोई बाल भी बांका नही कर सकता। बात मारपीट तक उतर आयी किन्तु उस वक्त दुकान में कुछ पत्रकार साथी भी मौजूद थे जो वहां चश्मदीद बनकर खड़े थे और फिर बीच बचाव करके मामले को शान्त कराया।



अब सवाल यह उठता है कि क्या इस प्रकार के दुकानदार मिलावटखोरी करके तथा लोगो के हेल्थ के साथ खिलवाड़ करके अपनी आमदनी में इजाफा करेगें और जिम्मेदार इस मामले में चुप्पी साधे रहेगें या फिर कार्यवाही करके इस तरह के दुकानदारो की कार्य प्रणालियों पर अंकुश लगायेगें।


सूत्रो की मानें तो कप्तानगंज बाजार में सिंह स्वीट्स मिलावटखोरी के मामले में काफी प्रसिद्ध माना जाता है और वहां के जिम्मेदारो का ग्राहको से हमेशा होता रहता है विवाद। ऐसे दुकानदारो से लोगो को सावधान रहने की जरूरत है, नही तो फिर इस तरह मिलावटी खाद्य पदार्थो की बिक्री करके यह मिलावटखोर लोगो के सेहत के साथ खिलवाड़ करते रहेगें।


देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएँ


लाॅग इन करें : - tarkeshwartimes.page 


 


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

रमंति इति राम: , राम जीवन का मंत्र

स्वतंत्रता आंदोलन में गिरफ्तार होने वाली राजस्थान की पहली महिला अंजना देवी चौधरी : आजादी का अमृत महोत्सव

निकाय चुनाव : बस्ती में नेहा वर्मा पत्नी अंकुर वर्मा ने दर्ज की रिकॉर्ड जीत, भाजपा दूसरे और निर्दल नेहा शुक्ला तीसरे स्थान पर