दैनिक जीवन में वैज्ञानिक सोच का प्रयोग करें बच्चे : आशुतोष निरंजन , जिला बाल विज्ञान कांग्रेस के 4 समूह राज्य स्तरीय कांग्रेस में चयनित


राष्ट्रीय बाल विज्ञान कांग्रेस का डीएम ने किया उद्घाटन , आईपीएस बृजेश ज्योति उपाध्याय ने बाल वैज्ञानिकों को सदैव जिज्ञासु बने रहने हेतु किया प्रेरित और चार समूहों का राज्य स्तरीय बाल  विज्ञान कांग्रेस के लिए किया गया चयन राष्ट्रीय बाल विज्ञान कांग्रेस के जिला समन्वयक डाॅ0 सर्वेष्ट कुमार मिश्र ने चार सालों में बाल विज्ञान कांग्रेस के उत्तरोत्तर प्रगति की जानकारी भी दी 


                  ( ऋषभ शुक्ल )


बस्ती ( उ0प्र0 ) । भारत सरकार के विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा संचालित राष्ट्रीय बाल विज्ञान कांग्रेस की जिला बाल विज्ञान कांग्रेस का उद्घाटन जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन ने मंगलवार को सरस्वती विद्या मंदिर रामबाग में किया। जिसमें जनपद के विभिन्न विद्यालयों के लगभग 300 से अधिक समूहों में से चयनित बाल वैज्ञानिको ने अपने प्रोजेक्ट प्रस्तुत  किए। जिले से कुल 4 समूह प्रदेश स्तरीय बाल विज्ञान कांग्रेस के लिए चयनित किए गए। 



इस अवसर पर जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन ने कहा कि बच्चों में वैज्ञानिक दृष्टिकोण किसी भी कार्य को अधिक प्रभावी व आसान बनाता है। इसलिए बच्चों को अपनी वैज्ञानिक सोच का उपयोग अपने दैनिक जीवन मे करना चाहिए।



बीएसए अरुण कुमार ने कहा कि बाल बैज्ञानिको द्वारा मॉडलों के जगह प्रोजेक्ट निर्माण करने से उनके भीतर छिपी वैज्ञानिक प्रतिभा को और अधिक निखरने का अवसर मिलता है जो इस कार्य्रकम को और अधिक महत्वपूर्ण बनाता है। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे किसान पीजी कालेज के प्राचार्य डॉ जेपी शुक्ल ने कहा कि हमारी धार्मिक मान्यताओं में भी विज्ञान है और बच्चों को उस पर भी वैज्ञानिक दृष्टिकोण से कार्य करना चाहिए।



राष्ट्रीय बाल विज्ञान कांग्रेस के जिला समन्वयक डॉ सर्वेष्ट मिश्र ने कार्यक्रम की विस्तृत रूपरेखा प्रस्तुत करते हुए इस वर्ष के बिषय, उपविषय, शामिल हो रहे समूहों की संख्या और पिछले 4 वर्षो में कार्यक्रम में उत्तरोत्तर प्रगति के बारे में अपने विचार रखे। उन्होंने कहा बस्ती के बाल वैज्ञानिकों को दुनिया के बेहतरीन मंच उपलब्ध कराना उनकी प्राथमिकता है। इससे पूर्व विद्या मंदिर के प्रधानाचार्य अरविंद सिंह ने राष्ट्रीय बाल विज्ञान कांग्रेस में विद्यालय के छात्र सूरज उपाध्याय के राष्ट्रीय स्तर पर विजेता होने का उल्लेख करते हुए कहा कि बच्चों के व्यक्तित्त्व विकास में विज्ञान की महत्वपूर्ण भूमिका है। विद्यालय के प्रबन्ध अभय पाल ने विद्यार्थियों के जीवन में विज्ञान की भूमिका का उल्लेख करते हुए सभी अथितियों को स्मृति चिह्न देकर सम्मान किया।



कार्यक्रम का संचालन शैलेन्द्र मणि त्रिपाठी ने किया निर्णायक मण्डल के सदस्यों में अरविन्द सिंह, विवेक मणि त्रिपाठी, सौरभ तुलस्यान, शबनम यादव, संदली चौधरी, वागीश पाठक शामिल रहे। कार्यक्रम में जीजीआईसी की प्रधानाचार्या नीलम सिंह सहित जनपद के विभिन्न विद्यालयों के शिक्षक भी शामिल रहे।


राज्य स्तरीय बाल विज्ञान कांग्रेस के लिए चयनित तथा सभी प्रतिभागियों को आईपीएस बृजेश ज्योति उपाध्याय ने प्रमाण पत्र व मेडल प्रदान करते हुए बच्चों को अपने दैनिक जीवन मे सदैव जिज्ञासु बने रहने के लिए प्रेरित किया ।



कार्यक्रम में विजेता बाल वैज्ञानिकों को शहर के प्रसिद्ध व्यवसायी अभिषेक गुप्ता ने स्व उमा शंकर गुप्ता स्मृति सम्मान व अन्य पुरस्कार देकर सम्मानित किया।



इन समूहों का हुआ राज्य स्तरीय कार्यक्रम के लिए चयन


बस्ती। जनपद स्तरीय बाल विज्ञान कांग्रेस में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले 4 समूहो का चयन राज्य स्तरीय बाल विज्ञान कांग्रेस के लिए किया गया। जिसमें जूनियर वर्ग में पूर्व माध्यमिक विद्यालय ओडवारा के छात्र जुहैब अहमद, सरस्वती विद्या मन्दिर रामबाग के छात्र आदित्य द्विवेदी तथा सीनियर वर्ग में राजकीय इंटर कालेज बस्ती के बृजेश यादव तथा एसवीएम सीनियर सेकेंडरी स्कूल बस्ती के छात्र हर्ष प्रताप सिंह का चयन किया गया।
राज्य स्तरीय बाल विज्ञान कांग्रेस 4 से 6 दिसम्बर को गोरखपुर में में आयोजित किया गया है।


देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएँ 


लाॅग इन करें : - tarkeshwartimestimes.page 


सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता


चाहिए मो0 न0 : - 9450557628


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

रमंति इति राम: , राम जीवन का मंत्र

स्वतंत्रता आंदोलन में गिरफ्तार होने वाली राजस्थान की पहली महिला अंजना देवी चौधरी : आजादी का अमृत महोत्सव

निकाय चुनाव : बस्ती में नेहा वर्मा पत्नी अंकुर वर्मा ने दर्ज की रिकॉर्ड जीत, भाजपा दूसरे और निर्दल नेहा शुक्ला तीसरे स्थान पर