PCS 2017 बस्ती के वैभव त्रिपाठी सहा. नगर आयुक्त बने , खुशी की लहर बधाईयों का तांता 

वैभव त्रिपाठी बस्ती के उस होनहार नौजवान का नाम है जिसने विपरीत परिस्थितियों में भी कभी हार नहीं मानी और उनके हौसले में उनके पूरे परिवार ने उनका साथ दिया । वैभव अपने से बड़े और छोटों सभी को इस सफलता के लिए जिम्मेदार बताते हैं । 


                            (ऋषभ शुक्ल)
बस्ती  ( उ0प्र0 ) ।   
बस्ती के ख्यातिप्राप्त प्रोफेसर डाॅ0 पारस नाथ त्रिपाठी के पुत्र वैभव त्रिपाठी ने पीसीएस 2017 की परीक्षा न केवल उत्तीर्ण की बल्कि प्रदेश भर में पुरूषों मे प्रथम स्थान प्राप्त कर बस्ती का गौरव बढ़ाया है । इनका चयन सहायक नगर आयुक्त के पद पर हो गया है । वैभव ने अत्यंत विपरीत परिस्थितियों में भी अपने अथक प्रयास से यह मुकाम हासिल किया है ।
 वैभव त्रिपाठी चार भाई , दो बहन थे । दो भाईयों का आकस्मिक निधन और पिता की 2002 में सड़क हादसे मे हुई मौत से पूरा परिवार मानों सदमें मे आ गया, इस सबके बावजूद इनके बड़े भाई मनीष त्रिपाठी ने इनका हौसला बढ़ाया और इनके मार्गदर्शन में वैभव ने अपना अध्ययन जारी रखा । 
इनके पिता डाॅ0 पारसनाथ त्रिपाठी स्थानीय शिवहर्ष किसान पी. जी. कालेज बस्ती में प्राचार्य एवं संस्कृत के विभागाध्यक्ष रहे । श्री त्रिपाठी स्थानीय नगर पालिका कार्यालय के निकट ओरीजोत के निवासी हैं और इनका मूल पैतृक स्थान गोरखपुर जिले का सोहगौरा टीकर गांव है । 



प्रथम प्रयास में ही 2017 की पी0 सी0 एस0 परीक्षा में वैभव का चयन सहायक नगर आयुक्त  ( Assistant Municipal Commissioner ) के पद पर हो गया है, जो अपने आप में एक बेहतर उपलब्धि है । ये इसके पूर्व लखनऊ में जी0 एस0 टी0 एवं कस्टम इन्सपेक्टर के पद पर कार्यरत थे । वैभव ने इण्टरमीडिएट तक की पढ़ाई स्थानीय खैर इण्टर कालेज बस्ती में की और टाॅपर रहने के साथ ही कई सरकारी परीक्षाओं में भी अव्वल रहे , तथा बाल वैज्ञानिक के रूप में भी अच्छी सफलताएं हासिल की थी । इन्होंने दिल्ली से बी0 टेक0 करने के बाद साफ्टवेयर इन्जीनियर के पद पर भी काम किया । 
वैभव त्रिपाठी अपनी इस सफलता का श्रेय अपने पिता डाॅ0 त्रिपाठी, माता मिथिला, भाई मनीष, बहन शिप्रा और प्रिया, बहनोई केदारनाथ एवं सुशील पाण्डेय एवं हाईकोर्ट के जज रंग नाथ पाण्डेय को दिया है । वैभव की इस सफलता पर चाचा जनार्दन राम, सकल देव, भाईयों में कृष्णा, राकेश , आनन्द, मनोज, पुनीत, रजनीश, अनूप और पत्नी नेहा त्रिपाठी ने प्रसन्नता व्यक्त करते हुए बधाई दी है । वैभव की इस सफलता से परिवारी जनों, रिश्तेदारों और इष्ट-मित्रों में खुशी की लहर है और बधाइयाँ देने वालों का तांता लगा हुआ है । 



  Visit On Google For Latest News  : -


      tarkeshwartimes.page 


Reporters Requirements Contact  : - 9450557628


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

रमंति इति राम: , राम जीवन का मंत्र

अतीक का बेटा असद और शूटर गुलाम पुलिस इनकाउंटर में ढेर : दोनों पर था 5 - 5 लाख ईनाम

अतीक अहमद और असरफ की गोली मारकर हत्या : तीन गिरफ्तार