झांसी . पुलिस ने की पुष्पेन्द्र की हत्या:चन्द्रपाल, पुलिस ने किया अन्तिम संस्कार, परिजन नहीं हुए शामिल


          फाईल फोटो  - पुष्पेन्द्र यादव 


🎯  बालू माफ़िया एन्काउंटर मामला , पोस्टमार्टम होते ही सपाइयों ने की पुलिस से धक्का मुक्की, काटा जमकर बवाल   ( नरेन्द्र पण्डित )


झांसी  ( उ0प्र0 ) । झांसी पुलिस के हाथों एनकाउंटर में मारे गए पुष्पेंद्र यादव का शव देर शाम जैसे ही कड़ी सुरक्षा के बीच फोर्स लेकर रवाना हुई, सपा नेताओं और कार्यकर्ताओं का आक्रोश फूट पड़ा, सैकड़ों की संख्या में सपाइयों ने परिजनों के साथ जमकर बवाल किया।
      मेडिकल कालेज के गेट नंबर तीन पर जाम कर पुलिस प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की, कुछ पुलिस वालों से अभद्रता कर उनके साथ सपाइयों ने धक्का-मुक्की भी की। 
      परिजनों और सपा नेताओं का आरोप है कि षड्यंत्र के तहत पुलिस वालों ने लेनदेन के विवाद में हत्या की है, दोषी पुलिस वालों के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत कर तत्काल गिरफ्तारी की जाए ।


एन्काउंटर नहीं पुलिस ने की हत्या: सांसद चंद्रपाल यादव
उत्तर प्रदेश के बुन्देलखंड स्थित झाँसी में देर रात पुलिस की तरफ से किए गए खनन माफिया पुष्पेंद्र यादव के एनकाउंटर पर सवालिया निशान उठने लगे हैं, समाजवादी पार्टी के राज्यसभा सांसद चंद्रपाल यादव ने पुलिस की कार्यशैली पर प्रश्नचिन्ह खड़ा करते हुए कहा कि एनकाउंटर नहीं ये हत्या है, सांसद का आरोप है कि लेनदेन में हत्या के बाद पुलिस ने कथित एन्काउंटर की फर्जी कहानी गढ़ दी है।
      श्रीयादव ने दोषी पुलिस वालों के खिलाफ हत्या की एफआईआर रजिस्टर्ड करने की मांग करते हुए कहा कि वे इस गंभीर मामले को संसद में उठाएंगे, उनके इस बड़े बयान के बाद से झाँसी पुलिस बैकफुट पर है।


                       पुलिस का कथन
शनिवार देर रात मोंठ कोतवाल धर्मेंद्र सिंह चौहान कानपुर से झाँसी वापस जा रहे थे, वे छुट्टी पर घर आए थे, पुलिस अफसरों के मुताबिक बम्हौरी चौराहे के पास खनन माफिया पुष्पेंद्र यादव ने कोतवाल को घेर लिया और मारपीट कर उन पर फायरिंग की, इसके बाद हमलावर इंस्पेक्टर की क्रेटा कार लूटकर भाग निकले। 
      सूचना पर पुलिस ने घेराबंदी की, गुरसरांय थाना एरिया में लोकेशन के बाद फोर्स ने घेरा तो पुष्पेंद्र ने फायरिंग की, क्रॉस फायरिंग में पुष्पेंद्र घायल हो गया। उसे अस्पताल ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया।


परिजनों का आरोप, सुबह मिली सूचना
मीडिया से बातचीत में पुष्पेंद्र के चचेरे भाई और चाचा ने बताया कि उसके खिलाफ कोई मुकदमा पंजीकृत नहीं था, पुष्पेंद्र के पास दो ट्रक थे, वो बालू को काम करता था, कब और क्या हो गया ? किसी को मालूम ही नहीं चला, सुबह कुछ दोस्तों ने फोन कर जानकारी दी, जिसके बाद सभी लोग मऊरानीपुर पोस्टमार्टम हाउस पहुंचे।
      परिजनों का कहना है कि पुलिस ने सूचना देना भी मुनासिब नहीं समझा, वहीं सूत्रों की मानें तो तनाव को देख पुष्पेंद्र के गांव में फोर्स की तैनाती की गई है।


परिजनों ने नही लिया पुष्पेंद्र का शव, पुलिस ने किया अंतिम संस्कार
पुलिस मुठभेड़ में मारे गए पुष्पेंद्र यादव का शव परिजनों ने अफसरों की तमाम मन्नतों के बाद भी लेने से इनकार कर दिया, कई दौर में चली वार्ता के बाद भी परिजनों द्वारा आरोपित इंस्पेक्टर धर्मेंद्र के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की मांग एवं उसकी गिरफ्तारी को लेकर अड़े रहे। लेकिन बात नही बनी और देर रात पुलिस पुष्पेंद्र के शव को लेकर झांसी आई, जहां देर रात प्रेमनगर थाना क्षेत्र में श्मशान घाट पर पुष्पेंद्र का अंतिम संस्कार कर दिया, अंतिम संस्कार में पुष्पेंद्र के परिजन शामिल नहीं थे।
      वहीं अंतिम संस्कार के बाद कही किसी प्रकार की अप्रिय घटना घटित न हो इसके लिए मृतक के गांव समेत पूरे मोंठ में भारी पुलिस फोर्स तैनात कर दिया गया है, जिसमें विशेष फोर्स आरएएफ भी शामिल है, सुरक्षा व्यवस्था को लेकर सतर्कता बरतते हुए मृतक के गाँव में पहले से भारी फोर्स तैनाती की गई है। घटना के बाद दशहरे के त्यौहार को लेकर प्रशासन हर प्रकार से सर्तक है और हर गतिविधि पर नजर रखे हुए है।
      हालांकि बताया जा रहा है कि शिवपाल सिंह यादव के बेटे आदित्य मृतक पुष्पेन्द्र यादव के गांव पहुंचेगे, जहां वह मृतक की पत्नी और भाई से मुलाकात करेंगे और उनका दर्द सुनेंगें।


पुलिस बैकफुट पर, कइयों का तबादला
मामला तूल पकड़ने के बाद पुलिस बैकपुट पर आ गई है । मोंठ थाना प्रभारी का तबादला किया गया है । धर्मेन्द्र चौहान को हटा दिया गया है । SHO चिरगांव सुनील तिवारी को मोंठ भेजा गया है और कटेरा SHO विनोद मिश्रा को चिरगांव प्रभारी बनाया गया। 


              - - - - - - - - - - - - - - - - - - 


Reporters Requirements - Contact  - 9450557628 


देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएँ लाॅग इन करें  - tarkeshwartimes.page 


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

रमंति इति राम: , राम जीवन का मंत्र

अतीक का बेटा असद और शूटर गुलाम पुलिस इनकाउंटर में ढेर : दोनों पर था 5 - 5 लाख ईनाम

अतीक अहमद और असरफ की गोली मारकर हत्या : तीन गिरफ्तार