छात्र नेता कबीर तिवारी की हत्या, दो गिरफ्तार : उग्र समर्थकों ने किया तोड़फोड़, पुलिस भी घायल, दहशत में शहर

बरामद असलहे व गिरफ्तार अभियुक्तछात्र नेता कबीर तिवारी की गोली मारकर हत्या, दो गिरफ्तार, तीन असलहे बरामद, समर्थकों ने घेरा कोतवाली, दिया धरना, किया तोड़फोड़ 


                 (आमोद उपाध्याय)


                       फाईल फोटो - आदित्य नारायण तिवारी  (कबीर)


बस्ती  ( उ0प्र0 ) ।
स्थानीय शहर में दिन दहाड़े छात्र नेता आदित्य नारायण तिवारी  ( कबीर ) की गोली मारकर हत्या किये जाने से पूरे शहर में सनसनी फैल गयी है । कोतवाली में हत्या के विरोध में भारी भीड़ जमा है । वहां दिन भर रास्ता जाम रहा ।


कबीर के समर्थकों की भारी भीड़ उग्र और हिंसक हिंसक हो गयी है, जिसमें पुलिस के कुछ लोगों के घायल होने की खबर है । हालांकि दो अभियुक्त गिरफ्तार कर लिए गये हैं , इसके बावजूद स्थिति को नियंत्रित करने में पुलिस के पसीने छूट रहे हैं । पूरे शहर में पुलिस को एलर्ट कर दिया गया है और कोतवाली छावनी में तब्दील हो गया है । स्थिति को देखते हुए शहर के मुख्य बाजार में दुकानों को बन्द कराया जा रहा है ।
   आज पूर्वाह्न करीब साढ़े दस बजे मालवीय मार्ग पर रंजीत चौराहे के निकट प्रज्ञा लोहा भण्डार के बगल स्थित अग्रवाल भवन के प्लाट पर आदित्य नारायण तिवारी  ( कबीर ) व अन्य लोग किसी मसले पर बातचीत कर रहे थे, इसी बीच युवकों ने कुछ सोचने समझने का मौका दिये बगैर अचानक कबीर तिवारी पर गोली चला दी, जो कबीर के सीने में लगी, आनन फानन में उन्हें अस्पताल ले जाया गया, प्राथमिक उपचार के बाद डाक्टरों ने उन्हें लखनऊ रेफर कर दिया, लेकिन कप्तानगंज - हर्रैया के बीच पहुंचते पहुंचते उन्होंने दम तोड़ दिया । बताया जा रहा है कि हमलावरों ने तीन फायरिंग की, दो गोली कबीर के सीने में लगी । आदित्य नारायण तिवारी  ( कबीर ) सुनील दत्त तिवारी एडवोकेट के पुत्र हैं , जो शहर के पुरानी बस्ती थाना क्षेत्र के गिदही के निवासी हैं । 
     जानकारी के मुताबिक घटना स्थल पर वारदात के बाद युवक वहां से फरार होने के लिए भागा एक युुुवक पास की ही एक गली में घुस गया , जो पिकौरा शिव गुलाम में जाती है । मोहल्ले में पहुंच कर वो एक ऐसी जगह पहुंच गये जहाँ से भाग नहीं पाया और चारों ओर से पीछा कर रही पुलिस ने उसे धर दबोचा । घटना मेें शामिल एक अन्य अभियुक्त भी गिरफ्तार कर लिया गया है । गिरफ्तार अभियुक्तों के नाम अभय तिवारी और अनुराग बताए गये हैं । अभियुक्तों के पास से 3 असलहे बरामद किये जाने की भी सूचना है । घटना स्थल के पास किसी अभियुक्त का मोबाइल फोन भी पुलिस को मिलने की बात भी सामने आ रही है ।
 भारी संख्या में छात्र, छात्र नेता और कबीर के समर्थकों ने हत्या के विरोध में कोतवाली में धरना भी दिया और गाड़ियों में तोड़ फोड़ भी की, इस दौरान पुलिस वालों को भी चोटें आयीं । 
पुलिस अधीक्षक पंकज कुमार ने दोनों अभियुक्तों की गिरफ्तारी और तीन असलहे बरामद होने की पुष्टि की है । घटना को लेकर पूरे शहर में एलर्ट कर दिया गया है, जिससे आम जन मानस को परेशानी का सामना न करना पड़े । 


आदित्य नारायण तिवारी  (कबीर ) स्थानीय अम्बिका प्रताप नारायण स्नातकोत्तर महाविद्यालय बस्ती के पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष थे और भारतीय जनता पार्टी की सक्रिय राजनीति करते थे । श्री तिवारी अपने आचरण व स्वभाव के चलते भाजपा सांसद हरीश द्विवेदी सहित भाजपा के वरिष्ठ नेताओं के प्रिय रहे ।


 @ तारकेश्वर टाईम्स की खबर
9450557628
 Visit on Google - tarkeshwartimes.page


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

रमंति इति राम: , राम जीवन का मंत्र

अतीक का बेटा असद और शूटर गुलाम पुलिस इनकाउंटर में ढेर : दोनों पर था 5 - 5 लाख ईनाम

अतीक अहमद और असरफ की गोली मारकर हत्या : तीन गिरफ्तार