बस्ती : राज्य की सबसे प्रसिद्ध दुर्गा पूजा : कन्हैया सेठ ने बस्ती में रखी थी नींव 

जब भी दुर्गा पूजा स्थापना की चर्चा होगी कन्हैया सेठ का नाम गर्व से लिया जाएगा


                        ( ऋषभ शुक्ल )


बस्ती  ( उ0प्र0 ) ।
      जिले में दुर्गा पूजा की जो धूम आज हमें देखने को मिल रही  है, उसकी शुरुआत पुरानी बस्ती के जाने माने सर्राफा व्यवसायी ढोढ़े राम कन्हैया लाल सेठ ने आज से करीब साठ साल पूर्व बस्ती में पहली मां दुर्गा की प्रतिमा  स्थापित करके की थी । जब भी कभी बस्ती में दुर्गा पूजा स्थापना के इतिहास की चर्चा होगी , बस्ती के कन्हैया सेठ का नाम गर्व से लिया जाएगा । उस समय मात्र एक ही प्रतिमा स्थापित की जाती थी , लेकिन दुर्गा पूजा का मेला जो शुरू हुआ वो आज राज्य का सबसे प्रसिद्ध दुर्गा पूजा है । 
     बस्ती के कन्हैया सेठ ने सन् 1960 में बस्ती जिले में सबसे पहले  दुर्गा पूजा के उपलब्ध में प्रतिमा की स्थापना की थी । ये व्यापारिक कार्यों से कोलकाता जाते आते रहते थे । कई बार इन्हें वहां का प्रसिद्ध दुर्गा पूजा देखने का सौभाग्य प्राप्त हुआ, और वहीं से प्रेरित होकर इन्होंने बस्ती में दुर्गा पूजा की शुरुआत करने का मन बना लिया ।
   स्व0 कन्हैया सेठ का बस्ती में नाती , पोते , पोथियों सहित भरा पूरा परिवार है । इनके एक पौत्र अनुपम सोनी कहते हैं कि हमारे दादा जी ने जिस पुण्य परम्परा की शुरुआत की है, उसे हमारे पूरे परिवार ने पीढ़ी दर पीढ़ी निभाने का निश्चय किया है । जिसे आज सम्पूर्ण बस्ती जिला विशालतम वटवृक्ष की तरह बढ़ा रहा है । अनुपम बताते हैं हमारे परिवार द्वारा स्थापित की जाने वाली मां की प्रतिमा के निमित्त किसी से कोई आर्थिक सहयोग नहीं लिया जाता है । क्योंकि हमारे दादा जी ने भी इसी प्रकार शुरुआत करके इसका निर्वाह किया है ।
   स्व0 श्री कन्हैया सेठ के एक पुत्र श्री सुभाष सेठ हाल ही में स्वर्गवास हो गया । एक पुत्र पंकज कुमार सोनी साहित्यकार और पत्रकार है, जो एक समाचार पत्र का प्रकाशन भी करते हैं । इनके परिवार में रचनात्मकता और सामाजिकता का पूरा समावेश देखने को मिलता है । पंकज कुमार सोनी कहते हैं कि जब पिताजी ने दुर्गा पूजा की शुरूआत की थी, उस समय भी जमाने के लिहाज से मूर्ति निर्माण से लेकर सारी चीजें सस्ती नहीं थी । नई परम्परा की शुरुआत और पिछड़ा होने के कारण संसाधन भी उपलब्ध नहीं थे । उन्हें मूर्ति बनवाने के लिए बाकायदा एक से अधिक कलाकार 15 दिनों के लिए बुलाकर उनके लिए सारा प्रबन्ध करना पड़ता था ।
  बस्ती शहर ही नहीं पूरे मण्डल मे दुर्गा पूजा की आज जो धूम, चहल पहल और मेला आज दिखाई दे रहा वह कन्हैया सेठ की देन है । ऐसे महान व्यक्तित्व के धनी मां के भक्त स्वर्गीय कन्हैया सेठ को याद किया जाय और उन्हें मां के चरणों में स्थान प्राप्त करने की प्रार्थना की जाय यही उन्हें सच्ची श्रद्धांजलि होगी ।


       तारकेश्वर टाईम्स परिवार ऐसी दिव्य आत्मा को                     विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित करता है ।



बोलो शेरा वाली मईया की जय 
  सौजन्य - तारकेश्वर टाईम्स 
देश दुनिया की खबरों के लिए Visit On Google - tarkeshwartimes.page 
Reporters Requirements Contact-9450557628


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

रमंति इति राम: , राम जीवन का मंत्र

अतीक का बेटा असद और शूटर गुलाम पुलिस इनकाउंटर में ढेर : दोनों पर था 5 - 5 लाख ईनाम

अतीक अहमद और असरफ की गोली मारकर हत्या : तीन गिरफ्तार