SantKabirNagar - अधिवक्ता साथी की हत्या के मामले में वकीलों ने काटा बवाल, डीएम, एस पी मौके पहुंचे: साथी की लाश बरामदगी की मांग पर अड़े अधिवक्ता

                रीतेश श्रीवास्तव 


संतकबीरनगर ( उ0प्र0 ) । स्थानीय  कोतवाली क्षेत्र के बड़ी सरौली निवासी अधिवक्ता राम गोपाल त्रिपाठी की अपहरण के बाद हत्या किये जाने के मामले के खुलासे के बाद अधिवक्ता आन्दोलित हो गये हैं । थी। हत्या से भड़के वकीलों ने कलेक्ट्रेट रोड पर जामकर प्रदर्शन किया । अधिवक्ताओं ने पुलिस प्रशासन मुर्दाबाद के नारे भी लगाये । अधिवक्ताओं को मनाने गये क्षेत्राधिकारी पुलिस की बात पर वकील प्रदर्शन खत्म करने पर हरगिज़ तैयार नहीं हुए । अधिवक्ता अपने साथी की लाश बरामदगी की मांग पर अड़े रहे । बाद में जिलाधिकारी रवीश गुप्ता और पुलिस अधीक्षक ब्रजेश सिंह ने मौके पहुंच कर अधिवक्ताओं को कड़ी से कड़ी कार्यवाही का आश्वासन दिया ।


बताते चलें कि इस मामले में अपहरण का मुकदमा कोतवाली पुलिस ने दर्ज कर लिया था। कोतवाली पुलिस को दिए गए तहरीर मेंअधिवक्ता रामगोपाल त्रिपाठी के भाई अयोध्या त्रिपाठी ने लिखा है कि 6 सितंबर की शाम चार बजे अपने स्विप्ट डिजायर से सुभाष कन्नौलिया निवासी शिवापार थाना बखिरा के बुुुलाने पर गयेे थेे । भाई की हत्या के नियत से अपहरण कर लियेे जाने की आशंका व्यक्त की थी । कोतवाली पुलिस ने तहरीर के आधार पर अपहरण का मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी थी। सोमवार को लखनऊ एसटीएफ ने घटना का खुलासा करते हुए बताया कि अभियुक्त द्वारा पूछताछ में बताया गया है कि जमीन के खरीद फरोख्त का कारोबार दोनों लोगों के साझे में किया जा रहा था। खलीलाबाद से लेकर लखनऊ तक कई जमीनों का सौदा कराया गया था। अभियुक्त ने यह भी कबूला कि राम गोपाल की हत्या कर उनका शव नहर में फेंक दिया गया है। एसपी ब्रजेश सिंह ने बताया कि लखनऊ की एसटीएफ और हम लोगों के संयुक्त मिशन के चलते यह कामयाबी मिली है।
             @ तारकेश्वर टाईम्स की खबर 


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

रमंति इति राम: , राम जीवन का मंत्र

अतीक का बेटा असद और शूटर गुलाम पुलिस इनकाउंटर में ढेर : दोनों पर था 5 - 5 लाख ईनाम

अतीक अहमद और असरफ की गोली मारकर हत्या : तीन गिरफ्तार