बस्ती : कोरोना वैक्सीन प्रबंधन के लिए तैयार हो रहा स्वास्थ्य विभाग


ब्लाकों के कोल्डचेन हैंडलर्स को दिया गया प्रशिक्षण, ई - विन सिस्टम पर काम करने के लिए दी गई आवश्यक जानकारी


        (विशाल मोदी)


बस्ती (उ.प्र.) । स्वास्थ्य विभाग ने कोरोना वैक्सीन के प्रबंधन के लिए तैयारियां शुरू कर दी हैं। इस सम्बंध में ब्लॉकों में तैनात कोल्डचेन हैंडलर्स को दो दिवसीय प्रशिक्षण एएनएम प्रशिक्षण केंद्र में दिया गया है। उन्हें वैक्सीन के रख-रखाव व पर्याप्त व्यवस्था का प्रबंध करने के लिए कहा गया है। ई - विन सिस्टम पर काम करने की भी जानकारी उन्हें दी गई। 



सीएमओ डॉ. फकरेयार हुसैन ने कहा कि कोरोना मरीजों के इलाज के साथ ही विभाग ने अब कोरोना वैक्सीन के प्रबंधन की तैयारी शुरू कर दी है। जब वैक्सीन तैयार होकर देश में आए तो हमारे यहां सभी तरह की व्यवस्था मौजूद रहे। इसके लिए वैक्सीन भंडारण की कैपेसिटी बढ़ाए जाने से लेकर वैक्सीन भंडारण के काम में जुड़े लोगों को प्रशिक्षण प्रदान किया जा रहा है। सभी लोग अपने यहां मौजूद लॉजिस्टिक जैसे सिरिंज, वैक्सीन कैरियर आदि की पर्याप्त व्यवस्था रखे तथा भंडारण की क्षमता बढ़ाए जाने पर भी ध्यान दें। भवन में उपकरणों के रखने के लिए पर्याप्त व्यवस्था होनी चाहिए। आईएलआर व डीप फ्रीजर आदि मशीनें ठीक दशा में होनी चाहिए।   



प्रशिक्षक व वैक्सीन कोल्ड चेन एवं लॉजिस्टिक मैनेजर हरेंद्र मिश्रा ने ई-विन (इलेक्ट्रानिक वैक्सीन इंटीलिजेंट नेटवर्क) सिस्टम पर काम करने की जानकारी देने के साथ ही बताया कि अब केवल वैक्सीन ही नहीं लॉजिस्टि का भी प्रबंधन ई - विन के माध्यम से हो रहा है। सभी कोल्ड चेन हैंडलर्स सिरिंज आदि जो भी सामान प्राप्त करें, उसकी फीडिंग ई-विन पर जरूर करें। इसी प्रकार प्रति दिन जितना लॉजिस्टिक खर्च हो रहा है, उसे भी ई-विन पर दर्ज करें। इससे यह फायदा होगा कि मुख्यालय पर बैठे अधिकारी यह जान सकेंगे कि कहां पर किस चीज की कमी हैं, तथा वह उसकी व्यवस्था कराएंगे। प्रशिक्षक आरबी गुप्ता ने मशीनों के रख-रखाव के तकनीकी पक्ष की जानकारी दी।


एआरओ बीएन मिश्रा ने कहा कि टीकाकरण कार्यक्रम स्वास्थ्य विभाग की रीढ़ है। नवम्बर से तीन माह तक विशेष टीकाकरण अभियान संचालित किया जाना है। प्रत्येक सोमवार को नियमित टीके से छूटे हुए बच्चों को प्रतिरक्षित किया जाना है। इसके लिए अभी से कार्ययोजना तैयार कर लें तथा इस अभियान में गम्भीरता से जुट जाएं। विश्व स्वास्थ्य संगठन के एसएमओ डॉ. जलज खरे व डॉ. स्नेहल प्रमाण, यूनीसेफ के डीएमसी आलोक राय ने भी प्रशिक्षण दिया। प्रशिक्षण प्राप्त करने वालों में सुरेश पांडेय, चंद्रभान, कनिकराम, राकेश कुमार, पवन कुमार सहित अन्य कोल्डचेन हैंडलर्स शामिल रहे। 


        ➖    ➖    ➖    ➖   ➖


देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएं


लॉग इन करें : - tarkeshwartimes.page


सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए


मो. न. : - 9450557628


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

लखनऊ में सैकड़ों अरब के कैलिफोर्नियम सहित 8 गिरफ्तार, 3 बस्ती के

समायोजन न हुआ तो विधानसभा पर सामूहिक आत्महत्या करेंगे कोरोना योद्धा

बस्ती पंचायत चुनाव मतगणना : अबतक घोषित परिणाम